उपमेयोपमा अलंकार की परिभाषा और उदाहरण


उपमेयोपमा अलंकार अर्थालंकार का एक भाग होता है इस अलंकार के अंतर्गत उपमेय तथा उपमान को आपस मे परिवर्तन करने की कोशिश की जाती है। इस आर्टिकल में आप उपमेयोपमा अलंकार की परिभाषा तथा उदाहरण के बारे में पढ़ने जा रहे हैं।

उपमेयोपमा अलंकार की परिभाषा

हिंदी व्याकरण का ऐसा अलंकार जिसमे उपमान को उपमेय में तथा उपमेय को उपमान में परिवर्तित करने की कोशिश की जाती है, इस अलंकार में उपमेय तथा उपमान को एक दूसरे की उपमा दी जाती है।

उपमेयोपमा अलंकार के उदाहरण

तेरो तेज सरजा समत्थ दिनकर सो है,

दिनकर सोहै तेरे तेज के निकरसों।

राम के समान शम्भु सम राम है।

तौ मुख सोहत है ससि सो अरु सोहत है ससि तो मुख जैसो।

उपर्युक्त दिए गए उदाहरणों में उपमेय तथा उपमान को आपस मे परिवर्तित करने की कोशिश की गई है अतः यह उदाहरण उपमेयोपमा अलंकार के अंतर्गत आएगा।

इस लेख में हमने आपको उपमेयोपमा अलंकार के बारे में उदाहरण सहित सम्पूर्ण जानकारी दी है यदि आपको इस लेख में दी गई जानकारी पसन्द आयी हो तो इसे आगे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Leave a Comment