कंप्यूटर एल्गोरिथ्म क्या है What Is Computer Algorithm In Hindi – 2023


जिस प्रकार किसी कार्य को करने के लिए हमें समस्याओं को Step by Step Solve करना होता है उसी प्रकार कंप्यूटर में Step by Step कार्य करने के लिए कंप्यूटर एल्गोरिथ्म का उपयोग किया जाता है यदि आपको कंप्यूटर एल्गोरिथ्म के बारे में नहीं पता है और आप इसके लिए रिसर्च कर रहे हैं तो यह पोस्ट आपके लिए है इस Article में मैं आपको कंप्यूटर एल्गोरिथ्म के बारे में सबसे आसान और सरल भाषा में बताऊंगा की कंप्यूटर एल्गोरिथ्म क्या है What Is Computer Algorithm

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म एक प्रोग्रामिंग Language है, जिसे प्रोग्राम लिखने से पहले बनाया जाता है जिससे एक बेहतरीन प्रोग्राम बन सके एल्गोरिथ्म का प्रयोग किसी भी समस्या को Solve करने के लिए किया जाता है जिसे Step by Step Follow करना होता है |

इसे हम और सरल भाषा में जानने के लिए एक उदहारण के रूप में आसानी से समझ सकते है जैसे मान लीजिए आपको किसी व्यक्ति को कॉल करना है क्योंकि कॉल करना भी एक समस्या है जिसमे बहुत सारे कार्य करने होते हैं तभी आप उस व्यक्ति से संपर्क कर पाएंगे और उस कॉल को पूरा करने के लिए आपको Step by Step नियमों का पालन करना होता है जैसे-
  • Step 1 – आपको सबसे पहले यह देखना होगा की आपका फोन On है या नहीं |
  • Step 2 – फोन On करने के पश्चात् आपको उस व्यक्ति का नंबर Dial करना होता है जिससे आप बात करना चाहते हैं |
  • Step 3 – नंबर Dial करने के पश्चात् Target व्यक्ति के पास एक Bell जाएगी |
  • Step 4 – यदि वह व्यक्ति आपके फोन को Receive कर लेता है तो आपकी बात उससे हो जाएगी |

कॉल करने जैसी एक मामूली समस्या को भी सुलझाने के लिए एक क्रम (Sequence) का पालन करना होता है ऊपर दिए गए सभी Steps को Follow करने के पश्चात् ही आप उस व्यक्ति से संपर्क कर पाएंगे इनमें से किसी भी एक Steps को न आप बदल सकते हैं और न ही छोड़ सकते हैं ऐसा करने से आप उस व्यक्ति से संपर्क नहीं कर पाएंगे यानि आपको Problems का Solution नहीं मिलेगा |

इसीलिए आपको किसी भी Problems के Solution को प्राप्त करने के लिए आपको विभिन्न प्रकार से नियमों का पालन करना होता है जो एक निश्चित क्रम है ठीक उसी प्रकार कंप्यूटर में भी किसी प्रोग्रामिंग Language को तैयार करने के लिए एक क्रमबद्ध होता है जिसका पालन हमें करना होता है उसे ही “कंप्यूटर एल्गोरिथ्म” कहते है |

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म की शुरुआत कब और किसने की When and who started computer algorithm

एडा लवलेस जो की एक अंग्रेजी गणितज्ञ और कवि बायरन की बेटी है इसने 1800 के दशक में मशीन के लिए पहला कंप्यूटर एल्गोरिथ्म लिखा था और कंप्यूटर प्रोग्रामर माना जाता है एडा लवलेस ने “कंप्यूटर के पिता” चार्ल्स बैबेज के साथ काम शुरू किया उनकी कंप्यूटिंग मशीनों से प्रभावित होकर उन्होंने एक लेख लिखा जिसमें उन्होंने यह बताया की मशीनों के लिए कोड कैसे बनाये जाते हैं और साथ ही कंप्यूटर प्रोग्रामिंग अवधारणा जिसे “लूपिंग” के रूप में जाना जाता है जो एक कोड के निर्देशों को दोहराता है 1960 के दशक तक यह लेख काफी हद तक लोगों की पहुंच में आ चुका था इसके पश्चात् से ही उन्होंने मरणोपरांत कई सम्मान जीते , अक्टूबर के दूसरे मंगलवार को एडा लवलेस डे के रूप में मनाया जाता है |

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म कैसे काम करता है How Computer Algorithms Work 

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म इनपुट और आउटपुट के माध्यम से काम करता है जब हम कोई भी डेटा दर्ज करते हैं तो System उस डेटा को अच्छे से विश्लेषण करने के पश्चात् हमें परिणाम दिखाता है एल्गोरिथ्म में डेटा संगृहीत होने के पश्चात उसे पुनः प्राप्त करने के लिए System उस पर काम करके हमारी दी गई Queries का जवाब देता है |

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म में Flow Chart एक मुख्य भूमिका के रूप में कार्य करता है जिससे यह पता चलता है की एल्गोरिथ्म किस दिशा में जा रहा है और इससे कंप्यूटर में प्रोग्राम लिखने में आसानी होती है जिससे समस्याओं का समाधान जल्द ही हो जाता है |

एक कंप्यूटर एल्गोरिथ्म काम करने के लिए तीन निर्णय होते हैं-

  1. रैखिक अनुक्रम – इसका मतलब किसी भी एल्गोरिथ्म में Step by Step कार्य करना होता है जिसमें एक निश्चित क्रम होता है |
  2. शर्त – किसी भी कंप्यूटर एल्गोरिथ्म को करने के लिए शर्तें होती हैं जिसका पालन करके हम एक कंप्यूटर प्रोग्रामिंग तैयार करते हैं |
  3. लूप – लूप का मतलब एल्गोरिथ्म को बार – बार दोहराया जाता है |

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म कितने प्रकार के होते हैं What are the types of computer algorithms

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म मुख्य रूप से छः प्रकार के होते हैं जो definition सहित इस प्रकार हैं :-

1. Brute Force Algorithm –

ब्रूट फाॅर्स एल्गोरिथ्म सबसे सरल एल्गोरिथ्म का कॉन्सेप्ट है जिसमें एक या एक से अधिक समस्याओं की जाँच करके आपको एक सटीक हल प्रस्तुत करता है |

2. Recursive Algorithm

पुनरावर्ती एल्गोरिथ्म छोटे इनपुट के साथ खुद को कॉल करता है एवं छोटे इनपुट पर दिए गए मूल्य के संचालन से वर्तमान इनपुट का परिणाम मिलता है |

3. Dynamic Programming Algorithm

डायनामिक प्रोग्रामिंग एल्गोरिथ्म जिसमें प्रत्येक संख्या दो पूर्ववर्ती संख्याओं का योग है जिसमें पिछले निष्पादित किये हुए परिणाम को याद रखता है और इसका उपयोग नया परिणाम प्राप्त करने के लिए करता है |

4. Backtracking Algorithm

ब्रैकट्रैकिंग एल्गोरिथ्म एक समस्या समाधान के रूप में कार्य करता है जो आउटपुट को खोजने के लिए पाशविक बल दृष्टिकोण का उपयोग किया जाता है |

5. Greedy Algorithm

ग्रीडी एल्गोरिथ्म वह एल्गोरिथ्म है जिसके द्वारा Optimization Problem का समाधान निकाला जाता है इसके साथ ही यह किसी भी परिणाम की परवाह किये बिना स्थानीय रूप से इष्टतम समाधान निकाल लेता है |

6. Divide And Conquer Algorithm

डिवाइड एंड कॉन्कर एल्गोरिथ्म के माध्यम से बड़ी – बड़ी समस्याओं को विभाजित करके छोटे परिणाम निकालता है जिससे मुख्य समस्या का समाधान निकल जाता है |

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म के उदाहरण Examples of Computer Algorithms

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म के कई सामान्य उदाहरण हैं जिसे आसानी से समझा जा सकता है:-

  1. किसी गणितीय संख्या व डेटा को Step by Step इस प्रकार विश्लेषित करना जिससे कंप्यूटर उसे Accept कर सके और गणितीय समस्या का एक सटीक हल आपको प्रस्तुत कर सके |
  2. मानचित्रों के माध्यम से मार्ग खोजने के लिए कंप्यूटर स्क्रीन पर जानकारी प्रदर्शित कर सके |

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म की विषेशताएं Characteristics of Computer Algorithms

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म की निम्नलिखित विषेशताएं है जिसे हम विस्तार से इस प्रकार समझेंगे:-

1. सटीक रूप से परिभाषित(Precisely Defined)

एल्गोरिथ्म का हर एक Steps सटीक होता है जिसे आसानी से पढ़ा जा सकता है |

2. इनपुट(Input)

हमें Problems के Solution के लिए कुछ न कुछ चीजों की आवश्यकता होती है जिसे इनपुट कहते हैं किसी भी एल्गोरिथ्म को प्राप्त करने के लिए इनपुट अच्छा होता है एल्गोरिथ्म में 0 या उससे अधिक इनपुट हो सकता है |

3. आउटपुट(Output)

एल्गोरिथ्म को करने के लिए हमें बहुत सारे Steps को Follow करना होता है उसके पश्चात् जो परिणाम मिलता है उसे आउटपुट कहते हैं एल्गोरिथ्म हमेशा इनपुट की तरह एक अच्छा आउटपुट भी लेती है |

4. निश्चितता(Finiteness)

एक एल्गोरिथ्म जितने कम समय में अपना पूरा कार्य करती है वह उतनी ही अच्छी होती है अतः एक निश्चित Steps के पश्चात् एल्गोरिथ्म खत्म हो जाता है |

5. संभव(Feasible)

किसी भी Task को पूरा करने के लिए, जो हम करने जा रहे हैं क्या वह संभव है ? यदि हम किसी उपलब्ध Data या Resources से अपने काम को पूरा कर सकते हैं तो एल्गोरिथ्म बनाना संभव है |

6. स्पष्ट(Unambiguous)

एल्गोरिथ्म का सही और स्पष्ट होना बहुत ही आवश्यक है जिसमें Steps और Align का कोई अर्थ निकलें |

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म कहाँ से सिख सकते हैं Where can I learn computer algorithms?

आप कंप्यूटर एल्गोरिथ्म निम्न माध्यमों से सिख सकते हैं

  1. YouTube के माध्यम से
  2. Blog Article के माध्यम से
  3. Online Courses खरीदकर जैसे Udemy, Courses इत्यादि
  4. Coding Bootcamp के माध्यम से
  5. ऑफलाइन बेस्ट कॉलेज के माध्यम से

एल्गोरिथ्म और फ्लोचार्ट में क्या अंतर है What is the difference between algorithm and flowchart

एल्गोरिथ्म और फ्लोचार्ट में निम्न अंतर है जो इस प्रकार है:-

  1. एल्गोरिथ्म को बनाने के लिए Step by Step Follow करना होता है जबकि फ्लोचार्ट एक चित्र या डायग्राम के रूप में बनाया जाता है |
  2. एल्गोरिथ्म को समझना जटिल है जबकि फ्लोचार्ट को समझना आसान है |
  3. एल्गोरिथ्म का उपयोग Plain text के रूप में किया जाता है जबकि फ्लोचार्ट का उपयोग एक चिन्ह / आकार के रूप में किया जाता है |
  4. एल्गोरिथ्म बनाना बहुत मुश्किल है जबकि फ्लोचार्ट बनाना बहुत आसान है |
  5. एल्गोरिथ्म के लिए किसी भी प्रकार के नियमों का पालन नहीं करना होता है जबकि फ्लोचार्ट में नियमों का पालन करना होता है |

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म के नुकसान Disadvantages of Computer Algorithms

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म के बहुत सारे नुकसान भी हैं जो इस प्रकार है:-

  1. एल्गोरिथ्म को लिखने के लिए बहुत अधिक समय लगता है
  2. बड़े – बड़े एल्गोरिथ्म को बनाना बहुत अधिक जटिल होता है
  3. एल्गोरिथ्म में लूपिंग को दिखाना मुश्किल होता है

कंप्यूटर एल्गोरिथ्म पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न FAQs On Computer Algorithm

Q1. कंप्यूटर एल्गोरिथ्म का उपयोग कैसे किया जाता है?

Ans. कंप्यूटर डेटा को कन्वर्ट करने के लिए एल्गोरिथ्म का उपयोग किया जाता है जो एक प्रोग्रामिंग भाषा है जिसे कंप्यूटर आसानी से समझ सकता है |

Q2. फ्लोचार्ट कितने प्रकार के होते हैं?

Ans. फ्लोचार्ट 4 प्रकार के होते हैं:-

  1. प्रोसेस फ्लोचार्ट(Process Flowchart)
  2. स्विम्लाने फ्लोचार्ट(Swimlane Flowchart)
  3. डाटा फ्लो डायग्राम(Data Flow Diagram)
  4. वर्क फ्लो डायग्राम(Work Flow Diagram) 

Q3. एल्गोरिथ्म के कितने तरीके क्या हैं?

Ans. एल्गोरिथ्म के दो तरीके हैं जो इस प्रकार हैं:-

  1. फ्लोचार्ट एल्गोरिथ्म – इसमें चित्र द्वारा प्रदर्शित किया जाता है |
  2. स्यूडोकोड – इसे किसी भी प्रोग्रामिंग Language में आसानी से कन्वर्ट किया जा सकता है |

आपने इस Article में यह सीखा की कंप्यूटर एल्गोरिथ्म क्या है , इसकी क्या विषेशताएं हैं , क्या नुकसान हैं और यह कैसे काम करता है इत्यादि मैं आशा करता हूँ की आपको इस Post में मेरे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी, यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं धन्यवाद !

Microsoft Excel का कोर्स करें और Free सर्टिफिकेट भी प्राप्‍त करें अभी विजिट करें https://pcskill.in/ पर
  1. कम्प्यूटर सीखें हिन्दी में – Learn Computer In Hindi
  2. सीसीसी कंप्यूटर कोर्स क्या है – What is CCC Computer Course Hindi– New *
  3. सीसीसी कंप्यूटर कोर्स इन हिंदी- CCC Computer Course in Hindi
  4. 31 फ्री फुल एक्सेल वीडियो ट्यूटोरियल
  5. कंप्यूटर टिप्स और ट्रिक्स
  6. प्रमुख तकनीकी आविष्कार और आविष्कारक
  7. हमें यूट्यूब पर जॉइन करें और पायें फ्री डेली टेक अपडेट
  8. बेस्ट वेबसाइट सभी के लिये – Best Website For Allदेखना ना भूलें 👈
  9. A to Z कंप्यूटर टर्म्स, डिक्शनरी और शब्दावली – A to Z Computer Terms, Dictionary
  10. PDF Tricks and Tips – पीडीएफ ट्रिक्स और टिप्स
  11. Internet Tips and Tricks – इंटरनेट टिप्स अौर ट्रिक्स
  12. YouTube Tips and Tricks – यूट्यूब टिप्स और ट्रिक्स
  13. Printing Tips – प्रिंटिंग टिप्स
  14. Parental Control Tips – पेरेंटल कंट्रोल टिप्स
  15. How To Guide In Hindi – हाउ टू गाइड हिन्दी में
  16. Google Search Tips and Tricks -गूगल सर्च के टिप्स और ट्रिक्स
  17. Google Now Tips and Tricks गूगल नॉउ टिप्स और ट्रिक्स हिन्दी में
  18. Google Map Tricks and Tips – गूगल मैप के टिप्स अौर ट्रिक्स
  19. Google Drive Tips and Tricks- गूगल ड्राइव के टिप्स अौर ट्रिक्स
  20. Google Chrome Tips and Tricks – गूगल क्रोम के टिप्स और ट्रिक्स
  21. Gmail Tips and Tricks – जीमेल के टिप्स और ट्रिक्स
  22. Cloud computing tips and tricks – क्लाउड कंप्यूटिंग के टिप्स और ट्रिक्स
  23. Facebook Tips and Tricks – फेसबुक के टिप्स और ट्रिक्स
  24. Android tips and tricks – एड्राइड के टिप्स अौर ट्रिक्स
  25. Blogger Tips and Tricks – ब्लागर टिप्स और ट्रिक्स

हमें सोशल मीडिया पर फॉलों करें – Facebook, Twitter, Google+, Pinterest, Linkedin, Youtube

हमारा ग्रुप जॉइन करें – फेसबुक ग्रुप, गूगल ग्रुप अन्‍य FAQ पढें हमारी एड्राइड एप्‍प डाउनलोड करें



Leave a Comment