क्रेडिट कार्ड क्या है इसके प्रकार और कैसे बनाए (Credit Card In Hindi)


Credit Card Kya Hai In Hindi: क्रेडिट कार्ड हर किसी व्यक्ति के पास नहीं होता है, क्योंकि यह बैंक द्वारा दी जाने वाली कोई आम सुविधा नहीं होती है, इसलिए अधिकतर लोगों को पता नहीं होता है कि Credit Card होता है. अगर आपके पास भी क्रेडिट कार्ड नहीं है और आप क्रेडिट कार्ड के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो यह लेख आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण होने वाला है.

आज के इस लेख के द्वारा हम आपको बताएँगे कि क्रेडिट कार्ड क्या है, क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार का होता है, क्रेडिट कार्ड कैसे बनाए, क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड में क्या अंतर है तथा क्रेडिट कार्ड के फायदे नुकसान क्या होते हैं. क्रेडिट कार्ड के बारे में यह सारी जानकारी आपको इस लेख में मिलने वाली है, इसलिए आप लेख को अंत तक जरुर पढ़ें.

तो चलिए बिना समय गंवाए शुरू करते हैं आज का यह लेख और जानते हैं क्रेडिट कार्ड क्या होता है विस्तार से हिंदी में.

क्रेडिट कार्ड क्या है (What is Credit Card in Hindi)

क्रेडिट कार्ड बैंकों के द्वारा प्रदान किया जाने वाला एक विशेष प्रकार का कार्ड होता है, जिसके अंतर्गत बैंक अपने ग्राहकों को उनकी आय के आधार पर एक निर्धारित की गयी धनराशि की लिमिट प्रदान करवाते है, जिसे कि ग्राहक ऑफलाइन या ऑनलाइन शॉपिंग या बिलों के भुगतान में खर्च कर सकते हैं और बाद में उन पैसों को वापस चुका सकते हैं.

क्रेडिट कार्ड बैंकों के द्वारा दिया गया एक उधार होता है, डेबिट कार्ड की तरह यह आपके बैंक अकाउंट से लिंक नहीं रहता है. अगर आपके अकाउंट में 0 बैलेंस है तब भी आप क्रेडिट कार्ड के द्वारा भुगतान कर सकते हैं. क्रेडिट कार्ड की EMI आपको हर महीने एक निश्चित तारीख को चुकानी होती है, अगर आप तय तारीख में EMI नहीं चुकाते हैं तो बैंक आप पर जुर्माना लगाता है.

क्रेडिट कार्ड बिल्कुल डेबिट कार्ड के सामान दिखता है, लेकिन इसका इस्तेमाल डेबिट कार्ड की तरह ATM से पैसे निकालने में नहीं किया जाता है. हालांकि आप क्रेडिट कार्ड से क्रेडिट लिमिट के 5 से 10 प्रतिशत तक पैसे निकाल सकते हैं लेकिन आपको इन पैसों को ब्याज सहित चुकाना पड़ता है. इसलिए आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल खरीददारी और बिलों का भुगतान में ही करें तो इसमें ज्यादा समझदारी है. 

क्रेडिट कार्ड के प्रकार (Types of Credit Card in Hindi)

अपनी विशेषताओं के आधार पर क्रेडिट कार्ड अनेक प्रकार के हो सकते हैं, जिनके बारे में नीचे बताया गया है.

1 – साधारण उद्देश्य क्रेडिट कार्ड

यह सबसे आम प्रकार के क्रेडिट कार्ड हैं जो अक्सर सभी के पास होते हैं, इस क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल आप सामान्य उद्देश्य के लिए कर सकते हैं, जैसे खरीददारी करना, बिलों का भुगतान करना, हवाई जहाज के टिकट का बिल पेमेंट करना आदि.

2 – शॉपिंग क्रेडिट कार्ड

इस प्रकार के क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने पर आप किसी भी प्रकार की खरीददारी में डिस्काउंट प्राप्त कर सकते हैं. नियमित रूप से शॉपिंग करने वाले व्यक्तियों के लिए यह क्रेडिट कार्ड बेस्ट है.

3 – ट्रेवल क्रेडिट कार्ड

अगर आपको घुमने – फिरने का शौक है तो आपको ट्रेवल क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना चाहिए. इस प्रकार के कार्ड में आपको एयरलाइन, बस, ट्रेन आदि की बुकिंग पर डिस्काउंट मिलता है.

4 – मनोरंजन क्रेडिट कार्ड (Entertainment Credit Card)

इस प्रकार के क्रेडिट कार्ड से आप मूवी टिकट, मनोरंजन पार्क टिकट या अन्य किसी भी मनोरंजन की सामग्री पर डिस्काउंट प्राप्त कर सकते हैं.

5 – इनाम क्रेडिट कार्ड (Reward Credit Card)

इस प्रकार के क्रेडिट कार्ड में आपके द्वारा किये जाने वाले हर एक भुगतान में बैंक की तरफ से आपको कुछ न कुछ रिवॉर्ड दिया जाता है.

क्रेडिट कार्ड कैसे बनाए – Credit Card Kaise Banaye

क्रेडिट कार्ड को बनाने की प्रोसेस बहुत आसान है, अगर आप बैंक की Eligibility Criteria के अंतर्गत आते हैं तो आप आसानी से क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं. क्रेडिट कार्ड बनवाने की पूरी प्रोसेस को हमने नीचे विस्तृत रूप से बताया है.

क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए योग्यता

क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए बुनियादी Eligibility Criteria निम्न प्रकार से है.

  • क्रेडिट कार्ड बनवाने वाले आवेदक की उम्र 18 साल से अधिक होनी चाहिए.
  • आवेदक के पास आय का कोई निश्चित श्रोत होना चाहिए.
  • आवेदक का क्रेडिट स्कोर अच्छा होना चाहिए.

इसके अलावा अलग – अलग बैंकों में ग्राहकों के लिए अन्य Criteria भी होते हैं जिसे आप बैंक जाकर या बैंक के ऑनलाइन पोर्टल में पढ़ सकते हैं.

क्रेडिट कार्ड कौन बनवा सकता है

क्रेडिट कार्ड हर वह व्यक्ति बना सकता है जिसकी उम्र 18 साल या इससे अधिक है. सभी नागरिकों को मुख्य रूप से तीन भागों में वर्गीकृत किया जा सकता है.

नौकरी करने वाले – ऐसे व्यक्ति जो किसी सरकारी विभाग या प्राइवेट कम्पनी में काम करते हैं बहुत आसानी से क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं. आप अपनी वेतन पर्ची को लेकर बैंक में क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं. बैंक आपकी मासिक आय के अनुसार क्रेडिट कार्ड में राशि की लिमिट को निर्धारित करता है.

स्वरोजगार करने वालेअगर आपका स्वरोजगार है तो भी आप बैंक जाकर आसानी से क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं. क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए आपको अपनी मासिक आमदनी को प्रूफ के लिए दिखाना होगा.  

कुछ नहीं करने वाले – अगर आप न तो नौकरी करते हैं और न ही आपका स्वरोजगार है तो भी आप क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं. इसके लिए आपको बैंक में फिक्स्ड डिपाजिट अकाउंट खुलवाना होता है. आपके द्वारा FD में जमा की गयी राशि बैंक में गारंटी के तौर पर जमा रहती है.

ऑनलाइन क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें

  • ऑनलाइन क्रेडिट कार्ड बनवाने (Credit Card Apply) के लिए आपको सम्बंधित बैंक के ऑनलाइन पोर्टल में Log in करना होगा.
  • इसके बाद Credit Card वाले विकल्प पर क्लिक करें.
  • अब आपके सामने एक Form ओपन हो जाएगा, जिसमें आपको अपनी कुछ बेसिक जानकारी का विवरण देना होगा (जैसे, नाम, नंबर , ईमेल, पता और बैंक खाते की डिटेल)
  • इसके बाद आपको ID Proof देने के लिए कहा जाएगा,जिसके लिए आप पैन कार्ड, वोटर कार्ड, पासपोर्ट आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • सारी डिटेल को सही से भरने के बाद फॉर्म को Submit कर दें.
  • कुछ दिन इन्तजार करने के बाद आपके पास बैंक एजेंट का कॉल आता है, जिसमें वह आपको आगे की सारी प्रोसेस बता देता है.

ऑफलाइन क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें

  • ऑफलाइन क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए पहले आपको अपने बैंक में जाना होगा, और ब्रांच मैनेजर से बात करनी होगी.
  • अगर आप क्रेडिट कार्ड के लिए Eligible होते हैं तो आपको क्रेडिट कार्ड आवेदन फॉर्म दे दिया जाएगा.
  • क्रेडिट कार्ड आवेदन फॉर्म में सभी जानकारी को सही से भरने के बाद आप अपने दस्तावेजों की कॉपी के साथ आवेदन फॉर्म को जमा कर दें.
  • कुछ दिन इन्तजार करने के बाद आपके पते पर क्रेडिट कार्ड पहुँच जाएगा.

क्रेडिट कार्ड के फायदे (Advantage of Credit Card in Hindi)

क्रेडिट कार्ड में अनेक सारे फायदे बैंक अपने ग्राहकों को देता है, जिनके बारे में हमने नीचे बताया है –

  • अगर आपके बैंक अकाउंट में पैसे नहीं है तो भी आप क्रेडिट कार्ड के द्वारा बिलों का भुगतान कर सकते हैं.
  • आप क्रेडिट कार्ड की मदद से ऑनलाइन या ऑफलाइन शॉपिंग कर सकते हैं.
  • अनेक सारे ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफार्म क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग करने पर Instant Cashback देते हैं, जिससे आपका पैसा भी बचता है.
  • आप मासिक EMI पर क्रेडिट कार्ड के द्वारा कोई महंगा सामान जैसे लैपटॉप, स्मार्टफोन या अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण खरीद सकते हैं, इसको चुकाने के लिए आपको 48 महीनों का समय मिल जाता है.
  • क्रेडिट कार्ड द्वारा भुगतान करने पर आपको ब्याज देने की जरुरत नहीं पड़ती है.
  • अगर आप समय पर क्रेडिट कार्ड के बिलों का भुगतान करते हैं तो इससे आपका क्रेडिट स्कोर सुधरता है और आप कम ब्याज दरों पर लोन ले सकते हैं.  

क्रेडिट कार्ड के नुकसान (Disadvantage of Credit Card in Hindi)

क्रेडिट कार्ड की कुछ कमियां भी हैं, चलिए उन पर भी एक नजर डाल लेते हैं –

  • अगर आप क्रेडिट कार्ड के बिल का समय पर भुगतान नहीं करते हैं तो बैंक आप पर अतिरिक्त शुल्क जुर्माना लगाता है.
  • अगर आप क्रेडिट कार्ड के द्वारा ATM मशीन से पैसे निकालते हैं तब भी बैंक आप पर जुर्माना लगाता है.
  • क्रेडिट कार्ड की सालाना maintenance fees होती है जिसे आपको Pay करना होता है.
  • आप क्रेडिट लिमिट से अधिक पैसे अपने क्रेडिट कार्ड से नहीं निकाल सकते हैं.

डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड में अंतर

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के बीच अंतर को हमने नीचे सारणी के द्वारा आपको समझाया है.

डेबिट कार्ड (Debit Card) क्रेडिट कार्ड (Credit Card)
डेबिट कार्ड में आप अपने बैंक खाते से पैसे निकालते हैं. क्रेडिट कार्ड बैंक की तरफ से दिया जाने वाला एक लोन या कर्जा होता है.
डेबिट कार्ड के द्वारा आप उतनी ही राशि का उपयोग कर सकते हैं, जितना आपके बैंक अकाउंट में होगा. क्रेडिट कार्ड में आप बैंक के द्वारा निर्धारित की गयी धनराशि लिमिट का ही उपयोग कर सकते हैं.
डेबिट कार्ड से पैसे निकालने पर आपको किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं देना पड़ता है. क्रेडिट कार्ड से पैसे निकालने पर आपको भारी ब्याज देना पड़ता है.
डेबिट कार्ड का इस्तेमाल अधिकतर पैसे निकालने के लिए किया जाता है. क्रेडिट कार्ड का अधिकतर इस्तेमाल ऑनलाइन खरीददारी के लिए किया जाता है.
डेबिट कार्ड को मुख्य रूप से देश में ही स्वीकार किया जाता है. जबकि क्रेडिट कार्ड के द्वारा आप विदेशों में भी लेन – देन कर सकते हैं.
Difference between debit card and credit card In Hindi

क्रेडिट कार्ड से सम्बंधित सामान्य प्रश्न  

क्रेडिट कार्ड का मतलब क्या होता है?

क्रेडिट कार्ड वित्तीय संस्थानों के द्वारा प्रदान किया जाने वाला एक कार्ड होता है, जो आपको खरीददारी या भुगतान करने के लिए एक Pre – Approved लिमिट से पैसे उधार लेने की सुविधा देता है.

क्रेडिट कार्ड को लेने के लिए कितनी सैलरी होनी चाहिए?

अलग – अलग बैंकों के नियम अलग – अलग होते हैं, लेकिन अधिकतर बैंकों में क्रेडिट कार्ड को लेने के लिए न्यूनतम सैलरी 15 हजार होनी चाहिए.

क्रेडिट को हिंदी में क्या बोलते हैं?

क्रेडिट को हिंदी में जमा धन कहते हैं.

इन्हें भी पढ़े 

आपने सीखा: क्रेडिट कार्ड क्या है हिंदी में

तो दोस्तों यह थी क्रेडिट कार्ड के बारे में पूरी जानकारी, आशा करते हैं कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख जरुर पसंद आया होगा, और इस लेख में दी गयी जानकारी से आपको Credit Card Kya Hai In Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिली होगी. इस जानकारी को सोशल मीडिया के द्वारा अपने अन्य दोस्तों के साथ भी साझा करें. साथ ही आपके कोई सवाल हैं तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं.

Leave a Comment