चालू खाता क्या है प्रकार और लाभ-हानि | Current Account In Hindi


Current Account Kya Hai In Hindi: करेंट अकाउंट या चालू खाता एक ऐसा बैंक अकाउंट है जिसके बारे में कम ही लोगों को सही जानकारी होती है, इसलिए लोग इन्टरनेट पर सर्च करते रहते हैं कि Current Account क्या है, करंट अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं, करेंट अकाउंट कैसे खुलता है, करंट अकाउंट के फायदे और नुकसान क्या हैं.

अगर आपको भी करंट अकाउंट के बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं है तो आज का यह लेख पूरा पढ़ें , इस लेख के द्वारा हम आपको करंट अकाउंट से जुडी सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करवाने वाले हैं. जो कि आपको करंट अकाउंट खुलवाने में मदद करेगी.

तो चलिए बिना देरी के सीधे आते हैं अपने लेख पर और जानते हैं करंट अकाउंट क्या होता है हिंदी में विस्तार से.

चालू खाता क्या है (Current Account in Hindi)

Current Account जिसे कि हिंदी में चालू खाता कहा जाता है, यह बैंक के द्वारा खुलवाया जाने वाला एक ऐसा अकाउंट होता है, जिसका मुख्य उद्देश्य पैसों की निरंतर रूप से लेन – देन करना होता है. अधिकतर कंपनियां, संस्थाएं और कारोबारी करंट अकाउंट खुलवाते हैं, जिन्हें लगातार लेन – देन करना होता है.

करंट अकाउंट में सेविंग अकाउंट की तरह ब्याज नहीं मिलता है, लेकिन इसमें आप एक दिन में 1000 बार भी लेन – देन करते हैं तो भी बैंक आपसे अतिरिक्त राशि नहीं लेता है. भारत में अधिकतर बैंक न्यूनतम 10 हजार रूपये जमा करके करंट अकाउंट खुलवाते हैं. करंट अकाउंट खुलवाने पर खाता धारक को चेकबुक, डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड, ओवरड्राफ्ट जैसी सुविधाएं मिलती हैं.

करंट अकाउंट के प्रकार (Types of Current Account in Hindi)

बैंक मुख्य रूप से चार प्रकार के करंट अकाउंट ऑफर करते हैं.

1 – Premium Current Account (प्रीमियम चालू खाता)

इस प्रकार के करंट अकाउंट खाताधारकों को अनेक प्रकार की विशिष्ट सुविधाएं प्रदान करवाते हैं. यह करंट अकाउंट उन लोगों के लिए उपयुक्त है जो उच्च स्तर पर लेन – देन करते हैं.

2 – Standard Current Account (मानक चालू खाता)

यह सबसे महत्वपूर्ण प्रकार के बैंक अकाउंट में से एक है जिसमें आपको हर महीने एक न्यूनतम औसत राशि बनाए रखनी होती है. इसके अतिरिक्त, यह खाता नेट बैंकिंग, SMS बैंकिंग, चेक बुक, डेबिट कार्ड, ओवरड्राफ्ट सुविधा के साथ-साथ नो-कॉस्ट NEFT और RTGS ट्रांजेक्शनल सेवा जैसी मानक सुविधाएं मिलती हैं.

3 – Packaged Current Account (पैकेज्ड चालू खाता)

पैकेज्ड चालू खाता उन प्रकार के चालू खातों में से एक है, जो प्रीमियम खाते और मानक चालू खाते के बीच में होता है. यह चालू खाता यात्रा बीमा, दुर्घटना बीमा जैसी अतिरिक्त सुविधाएं प्रदान करवाता है.

4 – Foreign Currency Account (विदेशी मुद्रा खाता)

इस प्रकार के चालू खाता उन लोगों के लिए खुलवाया जाता है जिन्हें नियमित रूप से विदेशी करेंसी में लेन – देन करनी होती है.

करंट अकाउंट कैसे खुलवाएं (How to open Current Account in Hindi)

  • करंट अकाउंट खोलने के लिए सबसे पहले आप अपने पसंदीदा नजदीकी बैंक में जरुरी दस्तावेजों के साथ जाइये और करंट अकाउंट ओपनिंग फॉर्म लीजिये.
  • फॉर्म को ध्यानपूर्वक भरकर अपने दस्तावेजों की फोटो कॉपी के साथ बैंक में जमा करवाइए.
  • इसके बाद 3 दिनों का इन्तजार कीजिये, अभी बैंक आपके दस्तावेजों को वेरीफाई करता है.
  • अगर आपके दस्तावेज अप्रूव हो जाते हैं तो आपका करंट अकाउंट खुल जाएगा.
  • फिर आप बैंक के द्वारा निर्धारित राशि को जमा कीजिये, बैंक आपको चेक बुक, ATM कार्ड आदि डॉक्यूमेंट प्रदान करवा देता है.

करंट अकाउंट खुलवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

करंट अकाउंट खोलने के लिए आपनी निम्न दस्तावेजों की जरुरत पड़ती है.

  • पैन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण (बिजली, पानी, गैस आदि का बिल)
  • पासपोर्ट साइज़ की फोटो.

करंट अकाउंट के फायदे (Advantage of Current Account in Hindi)

करंट अकाउंट खुलवाने के अनेक प्रकार के लाभ ग्राहकों को मिलते हैं.

  • करंट अकाउंट के द्वारा आप दिन में कर कितनी बार भी लेन – देन कर सकते हैं, इसकी कोई सीमा नहीं होती है.
  • करंट अकाउंट में बैंक ओवरड्राफ्ट जैसी सुविधा प्रदान करवाते हैं.
  • करंट अकाउंट नेट बैंकिंग, SMS बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग जैसी सुविधाएं देता है.
  • करंट अकाउंट के द्वारा आप देश में किसी भी ATM या बैंक की शाखा के द्वारा पैसों की लेन – देन कर सकते हैं.
  • करंट अकाउंट सभी प्रकार के व्यवसायों को लेन – देन की अनुमति देता है.
  • करंट अकाउंट में बैंक खाता धारकों को उनकी मांग के अनुसार बैंक स्टेटमेंट प्रदान करवाता है.

करंट अकाउंट के नुकसान (Disadvantage of Current Account in Hindi)

करंट अकाउंट की कुछ कमियां भी हैं जो कि इसके फायदों की तुलना में नगण्य है.

  • करंट अकाउंट में किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं मिलता है.
  • करंट अकाउंट की सभी सेवाएँ फ्री नहीं होती है, कुछ Paid भी होती हैं जिनके लिए बैंक अधिक चार्ज लेते हैं.
  • फ्री चेकबुक और फ्री डिमांड ड्राफ्ट की एक  लिमिट होती है.
  • करंट अकाउंट को खुलवाने के लिए अधिक पैसे जमा करने होते हैं.
  • करंट अकाउंट में अकाउंट मेन्टेनेन्स चार्ज भी अधिक होते हैं.

बचत खाते और चालू खाते के बीच अंतर

सेवाएं बचत खाता चालू खाता
व्याख्या इसे बचत ख़ाता या सेविंग अकाउंट कहते है. इसे चालू खाता या करंट अकाउंट कहते है.
ब्याज जमा राशि पर ब्याज दिया जाता है इसमें कोई ब्याज नहीं दिया जाता है.
लेनदेन दैनिक/मासिक लेनदेन की सीमित संख्या होती है. चालू खाते में दैनिक लेनदेन की कोई सीमा नहीं होती.
उपयोग आपातकालीन और आवश्यकता होने पर लेन देन के लिए नियमित व्यापार लेनदेन के लिए
संतुलन कम न्यूनतम राशि आवश्यक होती है. उच्च न्यूनतम राशि होनी आवश्यक है.
किसके के लिए सबसे अच्छा व्यक्तियों, वेतनभोगी पेशेवरों, वरिष्ठ नागरिकों आदि के लिए व्यवसायियों, फर्मों, कंपनियों, ट्रस्टों या संघों के लिए
रूपए निकालने की सीमा कम पैसा निकाल सकते है. इसमें रुपए निकालने की कोई सीमा नहीं है.
difference between savings account and current account in hindi

FAQ: करंट अकाउंट से सम्बंधित सामान्य प्रश्न

करंट अकाउंट कौन खुलवा सकता है?

कोई भी व्यक्ति जिसे प्रतिदिन निरंतर रूप से लेन – देन करना होता है वह करंट अकाउंट खुलवा सकता है. करंट अकाउंट को अधिकतर कंपनी, कारोबारी, फ़र्म या संस्था खुलवाते हैं.

करंट अकाउंट खुलवाने में कितने पैसे लगते हैं?

करंट अकाउंट खुलवाने में न्यूनतम 10 हजार रूपये लगते हैं. लेकिन कुछ बैंकों के यह राशि भिन्न हो सकती है.

करंट अकाउंट कितने दिन में खुलता है?

करंट अकाउंट खुलने में 3 Working Days का समय लगता है.

करंट अकाउंट में मिनिमम बैलेंस कितना होना चाहिए?

करंट अकाउंट में मिनिमम बैलेंस 5000 रूपये रखना होता है, लेकिन अलग – अलग बैंकों में यह राशि भी भिन्न – भिन्न होती है, इसलिए आप बैंकों की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर चेक करें.

करंट अकाउंट में कितने पैसे रख सकते हैं?

सभी बैंकों के अलग – अलग नियम होते हैं, जिसके आधार पर आपको करंट अकाउंट में पैसे रखने होते हैं.

इन्हें भी पढ़े

निष्कर्ष: चालू खाता क्या है हिंदी में

यदि आप एक बिज़नस चलाते हैं और अपने बिज़नस के लिए करंट अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको करंट अकाउंट के बारे में पूर्ण जानकारी होनी चाहिए. हमने इस लेख में कोशिस की है कि आपको करंट अकाउंट के बारे में पूर्ण जानकारी प्रदान करवा सकें.  लेकिन हमारा सुखाव यह भी है कि आप करंट अकाउंट खुलवाने से पहले बैंक से करंट अकाउंट के बारे में पूर्ण जानकरी लें.

उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख Current Account Kya Hai In hindi जरुर पसंद आया होगा. इस लेख को सोशल मीडिया के द्वारा दुसरे लोगों तक भी पहुचाएं.

Leave a Comment