पुनरुक्ति अलंकार की परिभाषा एवं उदाहरण


पुनरुक्ति अलंकार पुनः तथा उक्ति दो शब्दों के मिलने से बना है जिस वाक्य में कोई शब्द दो बार दोहराया जाता है तो वहाँ पर पुनरुक्ति अलंकार होता है। इस लेख में हम पुनरुक्ति अलंकार की परिभाषा तथा उदाहरण के बारे में पढ़ने जा रहे हैं।

पुनरुक्ति अलंकार की परिभाषा

जब किसी वाक्य में कोई शब्द दो अथवा दो से अधिक बार प्रयोग में आता है अथवा किसी शब्द की  पुनरावृत्ति होती है तो वहाँ पर पुनरुक्ति अलंकार होता हैं। पुनरुक्ति अलंकार शब्दालंकार का महत्वपूर्ण भी हैं।

पुनरुक्ति अलंकार के उदाहरण

किस इच्छा से लहरा कर।
हो उठा चंचल – चंचल।।

उपर्युक्त काव्य पंक्ति में चंचल शब्द की पुनरावृत्ति हो रही है अतः यह पुनरुक्ति अलंकार के अंतर्गत आएगा।

मधुर वचन कहि-कहि परितोषीं।

उपर्युक्त डालिये गए वाक्य में कहि शब्द का प्रयोग एक से अधिक बार किया गया है जिस कारण से काव्य को अर्थपूर्ण तथा भावपूर्ण किया गया है अतः यहाँ पर पुनरुक्ति अलंकार होगा।

इस आर्टिकल में आपको पुनरुक्ति अलंकार के बारे में उदाहरण सहित सम्पूर्ण जानकारी दी गई है यदि आपको इस लेख में दी गई जानकारी पसन्द आयी हो तो इसे आगे जरूर शेयर करें।

Leave a Comment