बैंक खाता क्या है और बैंक अकाउंट के प्रकार (What Is Bank Account In Hindi)


Type Of Bank Account In Hindi: आज के इस लेख में हम आपको बताएँगे कि बैंक खाता क्या है, बैंक अकाउंट क्यों जरुरी है, बैंक अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं , बैंक में अकाउंट कैसे खुलवाएं और बैंक अकाउंट के फायदे तथा नुकसान क्या है.

वैसे आज के समय में हर लोगों के पास बैंक अकाउंट होता है, क्योंकि आज इंटरनेट की दुनिया में बैंक में अकाउंट खुलवाने की प्रक्रिया अब बहुत ही सरल है. अगर पहले के समय की बात करें तो बैंक में अकाउंट खुलवाने में अनेक सारे वेरिफिकेशन करने पड़ते थे जिससे कि बैंक अकाउंट खुलने में बहुत अधिक समय लगता था. लेकिन आज कुछ ही मिनटों में बेसिक दस्तावेजों के साथ आप बैंक में अपना अकाउंट खुलवा सकते हैं.

इस लेख को लिखने का हमारा मकसद यही है कि आपको बैंक अकाउंट से सम्बंधित सभी प्रकार की उपयोगी जानकारी प्राप्त करवाई जाए जो आपके काम हमेशा आयेगी. इसलिए इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें.

तो चलिए आपका अधिक समय न लेते हुए शुरू करते हैं आज का यह लेख और जानते हैं Bank Account Kya Hai In Hindi.

बैंक अकाउंट क्या है (What is Bank Account in Hindi)

बैंक अकाउंट या बैंक खाता बैंकों के द्वारा प्रदान करवाया जाने वाला एक वित्तीय खाता होता है, जिसमें बैंक तथा ग्राहक के बीच की सभी लेन – देन का रिकॉर्ड दर्ज होता है. बैंक की किसी भी प्रकार की सुविधा का लाभ उठाने के लिए बैंक अकाउंट होना जरुरी होता है.

बैंक अकाउंट के द्वारा कस्टमर कहीं से भी बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा सकता है. बैंक अकाउंट के द्वारा ही एक व्यक्ति बैंक का ग्राहक बनता है. बैंक सरकार तथा केंद्रीय बैंक (RBI) के गाइडलाइन का पालन करते हैं.

बैंक अकाउंट क्यों जरुरी है

अपने पैसों को सुरक्षित जमा रखने के लिए और पैसों की लेन – देन करने के लिए बैंक अकाउंट बहुत जरुरी होता है.

माना आप भारत में दिल्ली से तमिलनाडु में पैसे भेजना चाहते हैं, अगर आपके पास बैंक अकाउंट नहीं होगा तो आप पैसे नहीं भेज सकते हैं. इसी प्रकार पैसे किसी दुसरे शहर से प्राप्त करने के लिए भी बैंक अकाउंट का होना जरुरी हो जाता है. बैंक अकाउंट के द्वारा आप विदेशों में भी पैसों की लेन – देन कर सकते हैं.

जरा सोचिये अगर आपके पास बैंक अकाउंट नहीं होता तो क्या यह सब संभव था? क्या आप ATM से पैसे निकाल सकते, क्या आप ऑनलाइन बिलों का भुगतान कर सकते, क्या ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते. इस सब के लिए बैंक अकाउंट का होना बहुत जरुरी है.

इसके अलावा बैंक अकाउंट में आप अपने पैसों को इलेक्ट्रॉनिक रूप में सुरक्षित रख सकते हैं. अगर आप अपने पास घर में करेंसी रखते तो चोरी होने नोटों के कटने – फटने आदि की समस्या होती, लेकिन बैंक अकाउंट होने से आप इस प्रकार की सभी समस्याओं से मुक्त हैं.

तो अब आप समझ गए होंगे कि बैंक अकाउंट का होना जरुरी क्यों होता है. चलिए अब बैंक अकाउंट के प्रकार के बारे में भी जान लेते हैं.

बैंक अकाउंट के प्रकार (Types of Bank Account in Hindi)

बैंक खाते के मुख्य रूप से चार प्रकार होते हैं –

  • Saving Account (बचत खाता)
  • Current Account (चालू खाता)
  • Fixed Deposit (FD) (सावधि जमा)
  • Recurring Deposit (RD) (आवर्ती जमा)

चलिए अब जानते हैं बैंक में खोले जाने वाले विभिन्न प्रकार के खातों के बारें विस्तार से.

#1 – Saving Account (बचत खाता)

जैसे कि नाम से ही स्पष्ट होता है, Saving Account बैंक में पैसों की बचत करने के लिए खुलवाये जाते हैं. बचत खाता खुलवाते समय खाताधारक को बैंक द्वारा निर्धारित की गयी एक निश्चित राशि अपने अकाउंट में जमा करना होता है, जिससे कि खाताधारक का बचत खाता खुल सके. अलग – अलग बैंकों में Account Opening बैलेंस भिन्न – भिन्न हो सकते हैं. आमतौर पर यह राशि 100 रूपये से लेकर 1000 रूपये तक होती है.

Saving Account खुलवाने पर बैंक की तरफ से खाताधारक को अनेक प्रकार की सुविधा मिलती है, जैसे कि डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, पासबुक, चेकबुक आदि.

Saving Account में Cash flow बहुत slow होता है. मतलब कि इसमें पैसे जमा करने और निकालने की दर में बहुत बड़ा अंतर होता है. ग्राहक बचत खाते में अधिक पैसे जमा करते हैं और निकालते बहुत कम हैं. बचत खाते में पैसे जमा करवाने पर बैंक की तरफ से खाताधारक को ब्याज भी दिया जाता है.

Saving Account में पैसे निकालने की एक लिमिट होती है, अगर आप लिमिट से अधिक बार पैसे निकालते है तो बैंक आप पर अतिरिक्त शुल्क लगाता है. इसके साथ ही खाताधारक को अपने बचत खाते में Minimum Balance Maintain करके रखना पड़ता है नहीं तो बैंक खाताधारक पर Minimum Balance Charge लगाता है.

#2 – Current Account (चालू खाता)

Current Account बैंक में पैसों की नियमित रूप से लेन – देन करने के लिए खुलवाया जाता है. अधिकांश बैंकों में आपको चालू खाता खुलवाने के लिए किसी भी प्रकार की Account Opening fees नहीं देनी होती है.

Current Account खुलवाने पर खाताधारक को Saving Account में मिलने वाली सुविधाओं के साथ और अनेक प्रकार की सुविधाएं मिलती हैं जैसे कि मोबाइल बैंकिंग, ओवरड्राफ्ट, डायरेक्ट डेबिट आदि.

Current Account में Cash flow तेजी से होता है, मतलब कि पैसे जमा करने और निकालने की दर Current Account में लगभग समान रहती है. ग्राहक के जितने पैसे करंट अकाउंट में आते हैं लगभग उतने पैसे ग्राहक के द्वारा निकाल भी लिए जाते हैं.

Current Account में बैंक की तरफ से खाताधारक को किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं दिया जाता है. अधिकतर बिज़नस, फ़र्म और संस्था करंट अकाउंट खुलवाते हैं.

#3 – Fixed Deposit Account (सावधि जमा खाता)

Fixed Deposit Account या FD ऐसे बैंक अकाउंट को कहते हैं जिसमें खाताधारक एक बार ही पैसे जमा कर सकते हैं और एक बार ही पैसे निकाल सकते हैं. इस प्रकार के अकाउंट लम्बे समय अवधि में लाभ कमाने के उद्देश्य से खुलवाये जाते हैं.

FD अकाउंट में आप एक निश्चित धनराशि को निश्चित समय अवधि के लिए बैंक में जमा करते हैं और जब वह समय अवधि समाप्त हो जाती है तो आप अपने द्वारा जमा किये गए पैसों को ब्याज सहित प्राप्त कर सकते हैं. अगर आप तय समय अवधि से पहले पैसे निकालते हैं तो बैंक आप पर जुर्माना लगाता है.

Fixed Deposit Account पर ब्याज सबसे अधिक मिलता है, क्योंकि FD में पैसे जमा करते ही पूरी राशि पर ब्याज मिलना शुरू हो जाता है.

 अगर आपके पास बड़ी मात्रा में धनराशि है जिसे आप बचत करना चाहते हैं तो FD आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है.

#4 – Recurring Deposit Account (आवर्ति जमा खाता)

Recurring Deposit Account या RD ऐसे बैंक अकाउंट को कहते हैं जिसमें खाताधारक एक निश्चित राशि को हर महीने एक निश्चित समय अवधि के लिए बैंक में जमा करते हैं. और समय अवधि समाप्त हो जाने के बाद अपने पैसों को ब्याज सहित प्राप्त कर सकते हैं.

RD अकाउंट में ब्याज दर FD की तुलना में कम होती है, क्योंकि RD में पैसे धीरे – धीरे जमा करते हैं जिससे पैसों पर ब्याज मिलना भी धीरे – धीरे शुरू होता है.

अगर आप RD अकाउंट लम्बे समय के लिए खुलवाते हैं तो इससे आपको अच्छे Return प्राप्त होते हैं. RD उन लोगों के लिए सबसे Best विकल्प है जो महीने की सैलरी पर काम करते हैं, और अपने भविष्य के लिए कुछ पैसे बचाना चाहते हैं.   

बैंक अकाउंट कैसे खुलवाते हैं

बैंक अकाउंट खुलवाने से पहले आप यह सुनिश्चित कर लें कि आपको कौन से बैंक में अपना अकाउंट खुलवाना है. आपको हमेशा उसी बैंक में अकाउंट खुलवाना चाहिए जिस बैंक की ब्रांच आपके नजदीक में हो.

बैंक को सेलेक्ट करने के बाद आप यह भी तय कर लें कि आपको किस प्रकार का अकाउंट खुलवाना है. आप अपनी पूंजी और जरुरत के अनुसार उपरोक्त 4  प्रकारों में से किसी भी प्रकार का बैंक अकाउंट खुलवा सकते हैं.

इसके बाद बैंक की नजदीकी शाखा में जाएँ और बैंक अकाउंट खुलवाने के लिए आवेदन फॉर्म को भरें और जरुरी दस्तावेजों के साथ आवेदन फॉर्म को जमा कर दें. यह प्रोसेस पूरी करने के बाद बैंक की तरफ से आपको पासबुक मिल जाएगा. और इस प्रकार से आपका बैंक में अकाउंट खुल जाएगा.

आप चाहें तो मोबाइल के द्वारा भी बैंक की एप्प को डाउनलोड करके ऑनलाइन बैंक अकाउंट खुलवा सकते हैं. ऑनलाइन बैंक अकाउंट खुलवाने पर 5 से 7 दिनों के अन्दर पासबुक, डेबिट कार्ड, चेक आदि आपके पास पहुँच जाएगा.

बैंक अकाउंट खुलवाने के लिए जरुरी दस्तावेज

बैंक अकाउंट खुवाने के लिए आपको निम्न दस्तावेजों की जरुरत होगी.

यह किसी भी बैंक अकाउंट को खुलवाने के लिए बुनियादी दस्तावेज हैं, सभी प्रकार के बैंक अकाउंट खुलवाने के लिए इनके अतिरिक्त कुछ अन्य दस्तावेजों की जरुरत हो सकती है.

बैंक अकाउंट के फायदे (Advantage of Bank Account in Hindi)

बैंक अकाउंट के अनेक सारे फायदे ग्राहक को मिलते हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं –

  • बैंक अकाउंट होने से आपके पैसे बैंक में सुरक्षित जमा रहते हैं.
  • बैंक अकाउंट खुलवाने के बाद बैंक ग्राहकों को अनेक प्रकार की सुविधाएं देता है. (जैसे – डेबिट और क्रेडिट कार्ड, Cheque, पासबुक, नेट बैंकिंग आदि).
  • बैंक अकाउंट के द्वारा आप कहीं से भी बैंक में पैसे जमा कर सकते हैं तथा निकाल सकते हैं.
  • बैंक अकाउंट में जमा किये गए पैसों पर बैंक आपको ब्याज भी देता है.
  • पैसों के चोरी होने का खतरा नहीं है.
  • बैंक अकाउंट के द्वारा भी विदेशों में भी पैसों की लेन – देन की जा सकती है.
  • अगर आपके जेब में नोट नहीं हैं तो भी आप नेट बैंकिंग के द्वारा खरीददारी कर सकते हैं.
  • UPI के द्वारा ऑनलाइन बिलों का भुगतान, घर बैठे मोबाइल रिचार्ज, शॉपिंग आदि किया जा सकता है.
  • ATM के द्वारा आप देश के किसी भी कोने से पैसे निकाल सकते हैं. 

बैंक अकाउंट के नुकसान (Disadvantage of Bank Account in Hindi)

एक ओर बैंक अकाउंट के अनेक सारे फायदे हैं तो वहीँ दूसरी ओर इसके कुछ नुकसान भी हैं जैसे कि –

  • बैंक अपनी सुविधा के बदले में कुछ अतिरिक्त चार्ज ग्राहकों से लेता है.
  • कभी – कभी बैंक सर्वर में प्रॉब्लम के कारण पैसों की लेन – देन नहीं हो पाती है.
  • बैंक अकाउंट में ग्राहक लिमिट से ज्यादा पैसों की लेन – देन नहीं कर सकते हैं.
  • ATM मशीन से पैसे निकालने की भी लिमिट होती है, अगर ग्राहक लिमिट से ज्यादा पैसे ATM से निकालते हैं तो बैंक के द्वारा अतिरिक्त शुल्क ग्राहकों पर लगाया जाता है.
  • अगर आपके बैंक अकाउंट की डिटेल किसी अन्य व्यक्ति के पास होती है तो पैसे चोरी होने का खतरा रहता है.
  • आपके पैसों पर सरकार की निगरानी रहती है. 

इन्हें भी पढ़ें

बैंक अकाउंट से सम्बंधित सामान्य प्रश्न

करंट अकाउंट क्या होता है?

करंट अकाउंट ऐसा बैंक अकाउंट होता ही जिसे अपने व्यवसाय में पैसों की लेन – देन के लिए खुलवाया जाता है. इस प्रकार के अकाउंट का उद्देश्य न तो लाभ कमाना होता है और न ही पैसों की बचत करना.

एक आदमी कितने बैंक अकाउंट रख सकता है?

यह आपकी मर्जी है आप कितने भी बैंक अकाउंट खुलवा सकते हैं. इनकम टैक्स में ऐसा कोई भी नियम नहीं है कि किसी व्यक्ति के पास निश्चित बैंक अकाउंट होने चाहिए.

क्या करंट अकाउंट में ब्याज मिलता है?

जी नहीं करंट अकाउंट में किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं मिलता है. यह अकाउंट बिज़नस, फर्म, संस्था आदि के लिए खुलवाये जाते हैं. इसमें पैसे जमा करने और निकालने की कोई लिमिट नहीं होती है.

सबसे ज्यादा ब्याज किस बैंक अकाउंट में मिलता है?

सबसे ज्यादा ब्याज Fixed Deposit Account में मिलता है.

आपने सीखा: बैंक अकाउंट क्या है हिंदी में

इस लेख में माध्यम से हमने आपको बताया कि Bank Account क्या है, बैंक खाता कितने प्रकार के होते हैं, बैंक अकाउंट क्यों जरुरी है और बैंक अकाउंट खुलवाने के फायदे नुकसान क्या है. अगर आपका अभी तक किसी भी बैंक में अकाउंट नहीं है तो आपको जरुर बैंक अकाउंट खुलवा लेना चाहिए क्योंकि वर्तमान समय में यह बहुत जरुरी है और हमेशा आपके काम आएगा.

इस लेख में इतना ही, उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख जरुर पसंद आया होगा, इस लेख को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें और इसी प्रकार के ज्ञानवर्धक लेख पढने के लिए हमारे ब्लॉग पर आते रहिये.

Leave a Comment