भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) क्या है कार्य/उद्देश्य | Reserve Bank Of India In Hindi


RBI Full Form in Hindi: क्या आप जानते हैं भारतीय रिज़र्व बैंक क्या है, RBI के क्या कार्य हैं, RBI का मुख्यालय कहाँ स्थित है, तथा RBI की स्थापना कब हुई. यदि आपको RBI के बारे में जानकारी नहीं है तो आप RBI के बारे में जानने के लिए बिल्कुल Right Place पर हैं, क्योंकि इस ब्लॉग पोस्ट में हमने RBI से जुडी तमाम सारी जानकारी आपसे साथ साझा की है.

अगर आप किसी Government Exam की तैयारी कर रहें, या फिर आप एक स्टूडेंट है तो RBI के बारे में आपको जानना बहुत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि Exam में RBI के बारे में अक्सर अनेक सारे सवाल पूछे जाते हैं. इसके साथ ही हर एक आम नागरिक को भी RBI के विषय में जानकारी होनी चाहिए.

RBI भारत का सेंट्रल बैंक है जो देश के अन्य सभी बैंकों के लिए नियम बनाता है, अगर कोई बैंक आपके साथ धोखा –धडी करता है तो आप इसकी शिकायत RBI में कर सकते हैं, इसलिए इस लेख में आपको हमने RBI के Contact नंबर भी दिए हैं.

तो आप बने रहिये लेख के अंत तक और हम शुरू करते हैं आज का यह महत्वपूर्ण लेख बिना किसी देरी के – भारतीय रिज़र्व बैंक क्या है इन हिंदी.

RBI Full Form in Hindi

RBI का पूरा नाम Reserve Bank of India है, जिसे कि हिंदी में “भारतीय रिज़र्व बैंक” कहते हैं.

  • RBI Full Form – Reserve Bank of India
  • RBI Full Form in Hindi – भारतीय रिज़र्व बैंक

भारतीय रिज़र्व बैंक क्या है (What is RBI in Hindi)

प्रत्येक देशों में बैंकिंग की प्रणाली और देश की अर्थव्यवस्था को नियंत्रित करने का कार्य एक सर्वोच्च बैंक करता है जिसे कि सेंट्रल बैंक कहते हैं, इसी प्रकार से भारत का भी अपना एक सेंट्रल बैंक है जिसे कि RBI (Reserve Bank of India) कहते हैं.

RBI भारत के सभी अन्य छोटे – बड़े बैंकों के लिए नियामक के रूप में कार्य करती है और RBI की गाइडलाइन का पालन करते हुए अपने बैंक को संचालित करती है. देश की अर्थव्यवस्था को नियंत्रित करने का कार्य भी RBI का ही होता है, भारत की सारी मुद्रा का हिसाब किताब RBI के द्वारा रखा जाता है.

RBI का मुख्यालय मुंबई में स्थित है, मुख्यालय में ही RBI के गर्वनर बैठते हैं. वर्तमान समय में पूरे देश में RBI के 31 क्षेत्रीय कार्यालय मौजूद हैं. RBI के वर्तमान गवर्नर शक्तिकांत दास जी हैं.

RBI का इतिहास (History of RBI in Hindi)

भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम 1934 के तहत 1 अप्रैल 1935 को हुई थी, उस समय भारत में ब्रिटिश का राज था. भारतीय रिज़र्व बैंक का केन्द्रीय कार्यालय प्रारंभ में कोलकाता में स्थापित किया गया था लेकिन 1937 में इसे स्थायी रूप से मुंबई में ट्रान्सफर कर दिया गया था.

RBI की स्थापना में भारतीय अर्थशास्त्री डॉक्टर भीम राव अम्बेडकर ने अहम् भूमिका निभाई थी. उनके दिशा निर्देशों के आधार पर ही RBI की स्थापना हो सकी. Sir Osborne Smith RBI के पहले गवर्नर बने. नीचे हमने आपको RBI के सभी गवर्नर के नाम तथा उनके कार्यकाल को एक टेबल के माध्यम से बताया है.

RBI के अभी तक के सभी गवर्नर के नाम और कार्यकाल

क्रम संख्या गवर्नर के नाम कार्य काल प्रारंभ तिथि कार्यकाल अंतिम तिथि
1 सर ओसबोर्न स्मिथ 1 अप्रैल 1935 30 जून 1937
2 सर जेम्स टेलर 1 जुलाई 1937 17 फरवरी 1943
3 सर सी डी देशमुख 11 अगस्त 1943 30 जून 1949
4 सर बेनेगल रमा राव 1 जुलाई 1949 14 जनवरी 1957
5 के जी अंबेगांओंकार 14 जनवरी 1957 28 फरवरी 1957
6 एच वी आर आयंगर 1 मार्च 1957 28 फरवरी 1962
7 पी सी भट्टाचार्य 1 मार्च 1962 30 जून 1967
8 एल के झा 1 जुलाई 1967 3 मई 1970
9 बी एन आदरकार 4 मई 1970 15 जून 1970
10 एस जगन्नाथ 16 जून 1970 19 मई 1975
11 एन सी सेनगुप्ता 19 मई 1975 19 अगस्त 1975
12 के आर पुरी 20 अगस्त 1975 2 मई 1977
13 एम नरसिम्हन 3 मई 1977 30 नवम्बर 1977
14 आई जी पटेल 1 दिसंबर 1977 15 सितम्बर 1982
15 डॉ मनमोहन सिंह 16 सितम्बर 1982 14 जनवरी 1985
16 ए घोष 15 जनवरी 1985 4 फरवरी 1985
17 आर एन मल्होत्रा 4 फरवरी 1985 22 दिसम्बर 1990
18 एस वेंकटरमन 22 दिसम्बर 1990 21 दिसम्बर 1992
19 सी रंगराजन 22 दिसंबर 1992 22 नवम्बर 1997
20 बिमल जालान 22 नवम्बर 1997 6 सितम्बर 2003
21 वाईवी रेड्डी 6 सितंबर 2003 5 सितम्बर 2008
22 डी सुब्बाराव 5 सितंबर 2008 4 सितम्बर 2013
23 रघुराम राजन 5 सितंबर 2013 4 सितम्बर 2016
24 अर्जित पटेल 11 सितंबर 2016 11 दिसम्बर 2018
25 शक्तिकांत दास 11 सितंबर 2018 अभी तक

RBI के कार्य/उद्देश्य (Work of RBI in Hindi)

देश की बैंकिंग प्रणाली को नियंत्रित करने के लिए RBI के अनेक कार्य होते हैं. भारतीय रिज़र्व बैंक के कुछ प्रमुख कार्यों और उदेश्यों के बारे में हमने इस लेख में आपको बताया है.

#1 – करेंसी जारी करना

भारतीय रिज़र्व बैंक के पास नोट छापने का एकाधिकार है. RBI केवल 1 रूपये के नोट को छोड़कर सभी नोटों को छापती है. 1 रूपये के नोटों को छपने का कार्य वित्त मंत्रालय का होता है, इस पर वित्त सचिव के हस्ताक्षर होते हैं.

#2 – बैंकों का बैंक

देश के अन्य कमर्शियल बैंक जिस प्रकार से अपने ग्राहकों के लिए कार्य करते हैं, उसी प्रकार से RBI बैंकों के लिए कार्य करता है. जिस भी बैंक को पैसों की जरुरत होती है उसे भारतीय रिज़र्व बैंक लोन देता है.

#3 – बैंकिंग प्रणाली के लिए नियामक

RBI देश के नागरिकों के हितों की सुरक्षा करने के लिए नियामक के रूप में कार्य करता है. देश के सभी बैंक RBI के दिशानिर्देशों के अनुरूप कार्य करते हैं, और जो बैंक RBI के नियमों का पालन नहीं करता है उससे RBI बैंक का दर्जा छीन लेता है. दिशानिर्देश जारी करने के साथ ही RBI बैंकों का निरक्षण करते रहता है.

#4 – विदेशी मुद्रा के भण्डार को सुरक्षित रखना

देश के विदेशी मुद्रा भंडार की सुरक्षा का दायित्व भी RBI का होता है. RBI विदेशी मुद्रा विनिमय दर को स्थिर रखने के उद्देश्य से विदेशी मुद्राओं को खरीदता और बेचता है.

विदेशी विनिमय बाजार में जब विदेशी मुद्रा की आपूर्ति कम हो जाती है तो RBI विदेशी मुद्रा को बेचकर उसकी आपूर्ति को पूरा करता है. और जब विदेशी मुद्रा की आपूर्ति बढ़ जाती है तो RBI विदेशी मुद्रा को खरीदता है. इस प्रकार से RBI विदेशी मुद्रा विनिमय की स्थिरता को बनाये रखता है.

#5 – सरकार का बैंक

RBI भारत सरकार के लिए बैंक का कार्य करता है. जब सरकार को अपने कार्यों की पूर्ति के लिए पैसों की आवश्यकता होती है तो RBI सरकार को लोन देता है, तथा भारत सरकार का एजेंट बनकर सरकार की ओर से Payment भी करता है.

#6 – देश की अर्थव्यवस्था

RBI के पास पूरे देश की मुद्रा का लेखा – जोखा रहता है, और समय – समय पर RBI आंकड़ों के रूप में प्रकाशित करते रहता है, जिसके द्वारा देश की अर्थव्यवस्था का पता लगाया जा सकता है. RBI सरकार का सलाहकार बनकर देश की अर्थव्यवस्था को सुधारने में भी मदद करता है.

ये सभी RBI के प्रमुख कार्यों के अंतर्गत आते हैं.

RBI के संपर्क सूत्र नंबर

यदि कोई बैंक आपके साथ धोखा – धडी करता है तो आप RBI के द्वारा जारी किये गए हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके RBI को अपनी समस्या बता सकते हैं. RBI के सभी संपर्क नंबर निम्नलिखित हैं –

  • 8691960000 (जानकारी औए सहायता हेतु)
  • 011-23711 333 (नई दिल्ली –हेड ऑफिस)
  • 022-2270 4715 (मुंबई – रीजनल ऑफिस)
  • 01352742001 (बैंकिंग लोकपाल)

लेख को यहाँ तक पढने के बाद आप RBI Kya Hai In Hindi को अच्छे से समझ गए होंगे.

RBI के बारे में कुछ रोचक बातें

अब RBI के बारे में कुछ रोचक बातें जानते हैं जो कि शायद ही आपको पता होंगी.

  • RBI केवल नोटों को छापता है जबकि सिक्कों को भारत सरकार के द्वारा बनाया जाता है.
  • RBI 1 रूपये के नोटों को नहीं छापता है, 1 रूपये के नोटों को छापने का कार्य वित्त मंत्रालय का होता है.
  • RBI का मुख्यालय पहले कोलकाता में स्थित था, लेकिन 1937 में इसे मुंबई ट्रान्सफर कर दिया गया.
  • RBI का पुराना नाम Imperial Bank of India था.
  • RBI का वित्तीय वर्ष 1 जुलाई से 30 जून तक होता है, जबकि भारत में वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल से लेकर 31 मार्च तक होता है.
  • सर ओसबोर्न स्मिथ और के जी अंबेगांओंकार RBI के इन दोनों गवर्नर को कभी नोटों पर सिग्नेचर करने का अवसर नहीं मिल पाया.
  • RBI भारत के अतिरिक्त दो अन्य बैंकों के लिए भी केन्द्रीय बैंक का कार्य कर चुका है. 1947 में म्यांमार के लिए तथा 1948 में पाकिस्तान के लिए.
  • RBI का प्रतीक ताड़ का पेड़ और बाघ है.

FAQ: Reserve Bank Of India In Hindi

RBI क्या है?

RBI भारत का एक केंद्रीय बैंक है जो देश की बैंकिंग प्रणाली को नियंत्रित करता है और देश के अन्य बैंकों के लिए उसी प्रकार के कार्य करता है जिस प्रकार से अन्य बैंक अपने ग्राहकों के लिए कार्य करते हैं.

RBI का पूरा नाम क्या है?

RBI का पूरा नाम Reserve Bank of India है.

RBI की स्थापना कब हुई?

RBI की स्थापना 1 अप्रैल 1935 को हुई थी.

RBI की स्थापना किसने की?

RBI की स्थापना ब्रिटिश राज में हुई थी, लेकिन बाबा साहब डॉक्टर भीम राव अम्बेडकर ने RBI की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

RBI के पहले गवर्नर कौन थे?

RBI के पहले गवर्नर Sir Osborne Smith थे.

RBI के वर्तमान गवर्नर कौन हैं?

RBI के वर्तमान गवर्नर शक्तिकांत दास जी हैं, जिन्होंने 11 सितम्बर 2018 को RBI के गवर्नर के रूप में सपथ ग्रहण की थी.

RBI का मुख्यालय कहाँ स्थित है?

RBI का मुख्यालय मुंबई में स्थित है, यहाँ गवर्नर बैठते हैं और नीतियाँ लागू की जाती है.

RBI का प्रतीक क्या है?

RBI का प्रतीक ताड़ का पेड़ और बाघ है.

भारतीय रिज़र्व बैंक का पुराना नाम क्या था?

भारतीय रिज़र्व बैंक का पुराना नाम Imperial Bank of India था.

RBI का राष्ट्रीयकरण कब हुआ?

RBI का राष्ट्रीयकरण 1949 में हुआ.

इन्हें भी पढ़े

निष्कर्ष – भारतीय रिज़र्व बैंक क्या है हिंदी में

तो दोस्तों यह थी भारतीय रिज़र्व बैंक के बारे में सम्पूर्ण और महत्वपूर्ण जानकारी, जिसमें हमने जाना कि RBI Kya Hai, RBI की स्थापना कब हुई और RBI के कार्य क्या हैं. इसके अलावा इस लेख में हमने आपको RBI के बारे में कुछ रोचक जानकारी भी बताई है जिससे कि आपको कुछ नया सीखने को मिले.

आपको यह लेख कैसा लगा? आप कमेंट बॉक्स में हमें बता सकते हैं, और यदि इस लेख से आपको कुछ सीखने को मिला है तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर भी शेयर करें और उन्हें भी RBI के बारे में बतायें.

Leave a Comment