100+ Propose Shayari in Hindi | बेस्ट प्रपोज शायरी इन हिंदी


Propose Shayari in Hindi: आज के इस लेख में आपके लिए बेस्ट प्रपोज शायरी इन हिंदी लेके आए है। इस तरह की बेस्ट प्रपोज शायरी इन हिंदी आपको मिलना मुश्किल है। आप यह लेख अपने मित्रो के साथ साझा कर सकते हैं।

Propose Shayari in Hindi

नाजुक सी मोहब्बत है शीशे सी कहानी है,
मैं उसका दीवाना हूँ वो मेरी दीवानी है।

तारो की टिमटिमाती रात,
चाँद की चांदनी का ठंडा एहसास,
वो पल थम जाये उसी पल में,
और में कह दूँ अपने दिल की बात।

कसूर तो था ही इन निगाहों का,
जो चुपके से दीदार कर बैठी,
हमने तो खामोश रहने की ठानी थी,
पर बेवफा ये ज़ुबान इज़हार कर बैठी।

उन्होंने मेरे दिल को आजमा कर देख लिया,
एक धोखा हमनें भी खाकर देख लिया,
क्या हुआ अगर हमारा दिल टूट भी गया,
उन्होंने तो अपना दिल बहला कर देख लिया।

मेरे नादान दिल को अगर तेरा एहसास नहीं होता,
तो सुन ले तू दूर भी रह कर के भी यूँ पास नहीं होता,
तेरी चाहत इस दिल में कुछ इस कदर बसा ली है,कि
अब मेरी जिंदगी में तेरे बिन कुछ खास नहीं होता।

ये दिल हर वक़्त तुमसे मिलने के लिए तड़पता है,
तुम्हें भी हमारे प्यार का एहसास हो,
इसलिए हर पल ये दिल सिर्फ तुम्हें याद करता है।

मुझे खामोश राहों मे तेरा साथ चाहिए,
तन्हा है मेरा हाथ तेरा हाथ चाहिए।

अगर जुबान से शब्द ना निकले,
तो मेरी आँखों को पढ़ लेना,
दिल अगर कुछ बया ना कर पाए,
तो खुद ही हाल-ऐ-दिल समझ लेना।

बनकर तेरा साया तेरा साथ निभाउंगी,
तू जहाँ जहाँ जायेगा में वहा वहा आउंगी,
साया तो छोड़ जाता है साथ अँधेरे में,
लेकिन मैं अँधेरे में तेरा उजाला बन जाउंगी।

वो जज़्बात जो तुम्हारे दिल में है,
उन्हें आज अपने हाथो से बता दो,
बहुत तड़पा चुके हमको हुज़ूर,
अब तो अपने सपने अपना प्यार जाता दो।

दिल उनके लिए मचलता है,
ठोखर खाता है और संभालता है,
किसी ने इस कदर कर लिया है दिल पर कब्ज़ा,
दिल है मेरा पर उनके लिए धड़कता है।

उनकी ख़ामोशी ही बहुत कुछ बोल गई,
हमे propose करना ही नहीं पड़ा,
उनकी आँखे आँखों ही आँखों में हां बोल गई।

बेज़ुबा नहीं हु,
पर फिर भी चुप हु मैं,
कहना है बहुत कुछ,
पर फिर भी चुप हु मैं,
करना चाहता हु,
इज़हार-ऐ-मोहब्बत,
पर जैसे ही तुम्हे देखा,
तभी से चुप हु मैं।

वक़्त निकल जाने से पहले,
कह दो उस से जो कहना है,
Proposal accepted तो ठीक है,
वर्ना वैसे भी तनहा ही रहना है।

दिल दे दो किसी एक को,
वह भी किसी नेक को,
यह कोई मन्दिर का प्रसाद नहीं,
जो बाँटते रहे हर एक को,
दिल देंगे किसी एक को वह भी किसी नेक को,
जब तक गर्लफ्रेंड नहीं पट जाती,
प्रोपोज़ करेंगे हर एक को।

अपनी मोहब्बत से सजाना है तुझको,
कितनी चाहत है यह बताना है तुझको।

तेरी ज़रूरत है ज़िन्दगी में मेरी,
तेरी चाहत है ज़िन्दगी में मेरी,
कुछ न मिले तो जी लेंगे,
पर तू न मिली तो नही चले गी ज़िन्दगी मेरी।

दिल यह मेरा प्यार करना चाहता है,
अपनी मोहब्बत का इजहार करना चाहता है।

सांसो मे रहकर तुम हमारी तुम महमान बन गये,
दिल में बसकर हमारी मुस्कान बन गये,
लोग नजदीक आकर हमारे ना बन सके,
और आप दूर रहकर भी हमारी जान बन गये।

तुम्हारी निगाहे क्या कमाल करती है,
कभी हकीकत तो कभी अप्साने बया करती है,
थम्सी जाती है उस पल धरकने,
जब तुम्हारी झुकी पल्के मोहब्बत का इज़हार करती है।

सिर्फ तुमसे ही प्यार करता हूँ मैं,
जान अपनी तुम पर निसार करता हूँ मैं,
तेरे बिना जी नहीं सकता एक पल इसलिए,
अपनी मोहब्बत का आज इजहार करता हूँ मैं।

बनकर तेरा साया तेरा साथ निभाउंगी,
तु जहा जाएगा में वहाँ-वहाँ आऊँगी।

शकल हमारी कुछ ख़ास नहीं,
पर दिल हम खूबसूरत,
रखते है,
इसलिए सुरत पे नहीं लोग तो,
हमारी सीरत पे मरा करते है।

शायरी तो शायर करते है,
हम तो अपने इश्क़ को बयां करते है,
जो बात हम लफ्ज़ो से कह नहीं सकते,
वो हम ऐसे ही बयां करते है।

नाजुक सी मोहब्बत है शीशे सी कहानी है,
मैं उसका दीवाना हूँ वो मेरी दीवानी है।

तारो की टिमटिमाती रात,
चाँद की चांदनी का ठंडा एहसास,
वो पल थम जाये उसी पल में,
और में कह दूँ अपने दिल की बात।

कसूर तो था ही इन निगाहों का,
जो चुपके से दीदार कर बैठी,
हमने तो खामोश रहने की ठानी थी,
पर बेवफा ये ज़ुबान इज़हार कर बैठी।

उन्होंने मेरे दिल को आजमा कर देख लिया,
एक धोखा हमनें भी खाकर देख लिया,
क्या हुआ अगर हमारा दिल टूट भी गया,
उन्होंने तो अपना दिल बहला कर देख लिया।

मेरे नादान दिल को अगर तेरा एहसास नहीं होता,
तो सुन ले तू दूर भी रह कर के भी यूँ पास नहीं होता,
तेरी चाहत इस दिल में कुछ इस कदर बसा ली है,कि
अब मेरी जिंदगी में तेरे बिन कुछ खास नहीं होता।

ये दिल हर वक़्त तुमसे मिलने के लिए तड़पता है,
तुम्हें भी हमारे प्यार का एहसास हो,
इसलिए हर पल ये दिल सिर्फ तुम्हें याद करता है।

मुझे खामोश राहों मे तेरा साथ चाहिए,
तन्हा है मेरा हाथ तेरा हाथ चाहिए।

अगर जुबान से शब्द ना निकले,
तो मेरी आँखों को पढ़ लेना,
दिल अगर कुछ बया ना कर पाए,
तो खुद ही हाल-ऐ-दिल समझ लेना।

बनकर तेरा साया तेरा साथ निभाउंगी,
तू जहाँ जहाँ जायेगा में वहा वहा आउंगी,
साया तो छोड़ जाता है साथ अँधेरे में,
लेकिन मैं अँधेरे में तेरा उजाला बन जाउंगी।

वो जज़्बात जो तुम्हारे दिल में है,
उन्हें आज अपने हाथो से बता दो,
बहुत तड़पा चुके हमको हुज़ूर,
अब तो अपने सपने अपना प्यार जाता दो।

दिल उनके लिए मचलता है,
ठोखर खाता है और संभालता है,
किसी ने इस कदर कर लिया है दिल पर कब्ज़ा,
दिल है मेरा पर उनके लिए धड़कता है।

उनकी ख़ामोशी ही बहुत कुछ बोल गई,
हमे propose करना ही नहीं पड़ा,
उनकी आँखे आँखों ही आँखों में हां बोल गई।

बेज़ुबा नहीं हु,
पर फिर भी चुप हु मैं,
कहना है बहुत कुछ,
पर फिर भी चुप हु मैं,
करना चाहता हु,
इज़हार-ऐ-मोहब्बत,
पर जैसे ही तुम्हे देखा,
तभी से चुप हु मैं।

वक़्त निकल जाने से पहले,
कह दो उस से जो कहना है,
Proposal accepted तो ठीक है,
वर्ना वैसे भी तनहा ही रहना है।

दिल दे दो किसी एक को,
वह भी किसी नेक को,
यह कोई मन्दिर का प्रसाद नहीं,
जो बाँटते रहे हर एक को,
दिल देंगे किसी एक को वह भी किसी नेक को,
जब तक गर्लफ्रेंड नहीं पट जाती,
प्रोपोज़ करेंगे हर एक को।

अपनी मोहब्बत से सजाना है तुझको,
कितनी चाहत है यह बताना है तुझको।

तेरी ज़रूरत है ज़िन्दगी में मेरी,
तेरी चाहत है ज़िन्दगी में मेरी,
कुछ न मिले तो जी लेंगे,
पर तू न मिली तो नही चले गी ज़िन्दगी मेरी।

दिल यह मेरा प्यार करना चाहता है,
अपनी मोहब्बत का इजहार करना चाहता है।

सांसो मे रहकर तुम हमारी तुम महमान बन गये,
दिल में बसकर हमारी मुस्कान बन गये,
लोग नजदीक आकर हमारे ना बन सके,
और आप दूर रहकर भी हमारी जान बन गये।

तुम्हारी निगाहे क्या कमाल करती है,
कभी हकीकत तो कभी अप्साने बया करती है,
थम्सी जाती है उस पल धरकने,
जब तुम्हारी झुकी पल्के मोहब्बत का इज़हार करती है।

सिर्फ तुमसे ही प्यार करता हूँ मैं,
जान अपनी तुम पर निसार करता हूँ मैं,
तेरे बिना जी नहीं सकता एक पल इसलिए,
अपनी मोहब्बत का आज इजहार करता हूँ मैं।

बनकर तेरा साया तेरा साथ निभाउंगी,
तु जहा जाएगा में वहाँ-वहाँ आऊँगी।

शकल हमारी कुछ ख़ास नहीं,
पर दिल हम खूबसूरत,
रखते है,
इसलिए सुरत पे नहीं लोग तो,
हमारी सीरत पे मरा करते है।

शायरी तो शायर करते है,
हम तो अपने इश्क़ को बयां करते है,
जो बात हम लफ्ज़ो से कह नहीं सकते,
वो हम ऐसे ही बयां करते है।

तेरी खुशियों को सजाना चाहता हूं,
तुझे देख कर मुस्कुराना चाहता हूं, मेरी जिंदगी में क्या अहमियत है तेरी,
यह लफ्जों में नहीं पास आकर बताना चाहता हूं।

एक दिन कह लीजिए,
जो कुछ है दिल में आप के,
एक दिन सुन लीजिए,
जो कुछ है हमारे दिल में।

लबो को रखना चाहते है खामोश,
पर दिल कहने को बेकरार है,
मोहब्बत है तुमसे हा मोहब्बत बेशुमार है।

मेरी सारी हसरतें मचल गयी,
जब तुमने सोचा एक पल के लिए अंजाम-ए- दीवानगी क्या होगी,
जब तुम मिलोगी मुझे उम्र भर के लिए।

तुझसे ऐतबार करना है,
दिलो जान से प्यार करना है,
ख्वाहिश ज्याद नहीं बस इतनी है मेरी,
की हर लम्हे में तुझे अपना बना के रखना है।

मेरी हसरतें मचल गयी,
जब तुमने सोचा एक पल के लिए,
अंजाम-ऐ-दीवानगी क्या होगी,
जब तुम मिलोगी मुझे उम्र भर के लिए।

अपनी मोहब्बत से सजाना है तुझे,
कितनी चाहत है ये बताना है तुझे,
राहों में बिछा के मोहब्बत अपनी,
प्यार के सफर पे ले जाना है तुझे।

मेरे दिल की बात सुन लो ज़रा,
साथी अपनी राहो का हमे चुन लो ज़रा,
प्यार करेंगे तुम्हे हर कदम के साथ,
यकीन न हो तो तुम आज़मा लो ज़रा।

प्यार क्या है न पूछो तुम मुझसे,
क्या बताने से मान जाओ गे?
यूं बताने से फायदा भी नहीं,
कर के देखो तो जान जाओ गे।

दीवाना हूँ तेरा, मुझे इनकार नहीं,
कैसे कह दूँ कि मुझे तुमसे प्यार नहीं,
कुछ शरारत तो तेरी नज़रों में भी थी,
मैं अकेला ही तो इसका गुनहगार नहीं।

उम्मीद करते है की, आपको यह हमारा बेस्ट प्रपोज शायरी इन हिंदी आपको जरूर पसंद आया होगा। आप हमारा यह लेख अपने मित्रो के साथ साझा कर सकते है, और हमें कमेंट में बता सकते है आपको हमारा यह लेख कैसा लगा।

Leave a Comment