150+ Badmashi Shayari in Hindi | बदमाशी शायरी » KindStatus.com


Badmashi Shayari in Hindi: आज के इस लेख में आपके लिए बदमाशी शायरी लेके आए है। इस तरह की बदमाशी शायरी आपको मिलना मुश्किल है। आप यह लेख अपने मित्रो के साथ साझा कर सकते हैं।

Badmashi Shayari in Hindi

जली को आग और बुझी को राख कहते हैं,
तू जिसका का स्टेटस पढ़ रहा है,
उसे दुनिया attitude का बाप कहते हैं।

दोस्त को दौलत की निगाह से मत देखो,
वफा करने वाले दोस्त अक्सर गरीब हुआ करते हैं।

जो गुरुर और रुतबा कल था, वो आज भी हे,
और आगे भी रहेगा मेरा एटीट्युड कोई कैलेंडर नही,
जो हर साल बदल जाएगा।

जब दुशमन पत्थर मारे तो,
उसका जवाब फुल से दो,
बस याद रखना की फुल,
उसकी कबर पर होना चाहिये।

जिहने ख्वाब Dekhne अच्छा Lagta है Unhe Raat छोटी Lagti Hai,
और जिन्हें ख्वाब Pura करना Aacha लगता Hai उन्हें Din छोटा Lagta है।

गलतफहमी में जी रहे हो बेटा,
आकर देख यहां मेरा राज है,
गलती से भी मुझे कहीं टकरा मत जाइए,
वरना उस दिन पता चलेगा तेरा असली बाप कौन है।

मंजिलों को देखते है याद तुझे हर शाम ना करे,
अब ऐसा कोई दुश्मन नही बचा जो हमे देखकर सलाम ना करे।

हमारी ताकत का अंदाजा हमारे ज़ोर से नहीं,
दुश्मन के शोर से पता चलता है।

नवाब की जिन्दगी जीने के लिए नसीब लगता है,
वर्ना हीरो की जिन्दगी तोह कोई भी जीता है।

बदमाशी तो हमारे खून में है,
पर हमने कभी बदमाशी कि नहीं,
जिस दिन बदमाशी दिखा दी,
उस दिन लोगों को घर से निकलना मुश्किल होगा।

हमारी शराफत का फायदा उठाना बंद कर दो,
जिस दिन हम बदमाश बन गए क़यामत आ जायेगी।

जो गुरूर और रुतबा कल था,
वह आज भी है मुझ में,
मेरा Attitude कोई मौसम नहीं,
जो हर चार महीने में बदल जाएगा।

जिसकी औकात नहीं हम से आंख से आंख मिलाने की,
वो हमें इस दुनिया से मिटाने की बात करते हैं।

जीने का बस यही अंदाज़ रखो,
जो तुम्हे न समझे उसे नज़र अंदाज़ रखो।

मेरी औकात से ज्यादा बेटा मेरे नाम के चर्चे है,
और तेरी औकात से ज्यादा तो मेरे सिगरेट के खर्चे है।

जितने का तेरा घर है,
उतने का तो चारा रखते है,
कभी ब्लॉक लिस्ट चेक कर मेरी जान,
तेरे जैसे बारह रखते है।

प्रधान मेरी गलतियाँ न,
नज़र अंदाज़ कर दिया कर,
पाटना नी तेरे प मेरा बाल भी।

आजकल दूध पीते बच्चे भी एटीट्यूड दिखा रहे,
शायद उसे याद दिलाना होगा,
एटीट्यूड का बाप तो मैं हूं।

दहसत बनाओ तो शेर जैसी बनाओ,
क्योंकि डराना तो गली के कुत्ते भी जानते हैं।

जिस दिन हमने अपना रॉयल नवाबी अंदाज़,
दिखाया, उस दिन ये Attitude वाली लड़कियां,
खड़े – खड़े ढेर हो जाएंगी।

इंसान दुःख में साथ देने बाला होना चाहिए,
बरना ख़ुशी में तो हिजड़े भी नाचने आ जाते हैं।

जिगर वालों को डर से कोई वास्ता नहीं होता,
हम कदम भी वही रखते हैं,
जहां कोई रास्ता नहीं होता।

सुन तू मोहब्बत नही आदत थी मेरी,
और ये भी सुन,
और अब मैंने घटिया आदते बदल दी हैं।

लोग कहते हैं सुधर जाओ; तुम्हारी भी पहचान बन जाएगी,
और हम कहते हैं वैसे भी हमारा पहचान बदमाशों में गिना जाता है,
अगर हम सुधर गए तो हमारी पहचान मिट जाएगी।

किसी गलतफहमी में ना रहना की तेरा राज़ है,
पास आके देख ले यहाँ कौन किसका बाप है।

अपना तो एक ही तरीका है यारो,
मांगों उसी से जो दे ख़ुशी से,
और जो न दे ख़ुशी से तो छीन लो उसी से।

उम्र छोटी है तो क्या हुआ, जीवन का हर एक मंज़र देखा है,
फरेबी मुस्कुराहटो के संग बगल में छुपा खंज़र देखा है।

दमदार शख्सियत वालों के ही बनते हैं दुश्मन,
वरना इस दुनिया में कमजोरो को पूछता ही कौन है।

उस दिन तुम सबका हिसाब होगा जिस,
दिन बदमाशी पे उतर आया,
दुश्मनो के दिमाग में खौफ और,
दोस्तों के दिल पर राज होगा।

औकात नहीं है आँख से आँख मिलाने की,
और बात करते है हमारा नाम मिटाने की।

ऊंचाइयां तय नही करती,
कभी किरदार किसी का,
इन ऊंची इमारतो में भी,
बहुत गिरे हुए लोग रहते है।

Dõstí के दुनिया के बादशाह है हम,
Yáãrí करे तो यारो के यार है हम,
सच्चे Pyãárपर कुर्बान है हम,
पता नही कितनो कि jaan है हम।

सुन छोरी तू अपने “Boyfriend”की चाहे कितनी,
भी तारीफ़ कर ले लेकिन तेरा “Boyfriend” भी,
मेरे ही “Status Copy” करता है।

जो लोग हमें मामूली समझते थे,
उसे हमारी असलियत मालूम ही नहीं थी,
असलियत का पता चलते ही मेरे कदमों में झुक गया।

ग़लतफहमी में है बेटा, के तेरा राज़ है,
आके देख ले यहाँ कौन किसका बाप है।

थोड़े ही दिनों में इतना नाम कमाने वाला हूँ,
की कोई पूछेगा भी नहीं की लड़का क्या करता है,
Direct बोलेंगे ले कर जा मेरी लड़की को बात ख़तम।

वक्त खराब है इसलिये झुकता चला जा रहा हूँ,
जब दिमाग खराब होगा तब हिसाब पल पल का लूँगा।

औकात की बात मत कर पगली,
हम तो Autograph देने के लीए 10-11 आदमी रखते है।

तू हजार बार रूठेगा मैं मना लूंगा,
मगर याद रखना हमारे दोस्ती के बीच में कोई दूसरा ना हो।

बात दोस्ती की होगी तो दिल में ही नही दुआओ में भी याद रखूँगा,
ऊँगली मुझ पर उठाई तो उंगली बाद में पहले मैं तेरी अकड़ तोडूँगा।

सुनो अब तो मेहनत दिन रात होगी,
देखना एक दिन हमारी भी,
सबसे ऊंची औकात होगी।

शान्त बैठा हूँ बदनामी के डर से,
जिस दिन मूड घूम गया ऊठा ले जाउंगा घर से।

सुन बेटा तेरी बदमाशी का सूरज कितनी भी बुलंदियों पर चमके,
लेकिन हमारे सामने चमका तो डूब जायेगा।

मेरी बदमाशी मेरी निशानी है,
आओ कभी हवेली पे अगर कोई परेशानी है।

इतना मत अकड पगली जितना teri अकेली ka वज़न hai,
Utne rupaye ki Gold Flake to रोज़ अपने दोस्तों ko पिला दिया करते है।

दहशत आँखों में होनी चाहिए,
हथियार तो चौकीदार के पास भी होता है।

जिन्हाने केहना सी ओहनू केहन देयो,
साडा की जांदा सी वक़्त-वक़्त दी गल आ,
ते वक़्त सारेया दा ओना सी।

जो भूल गए है मुझे उन्हें भूल जाने दो,
एक दिन फिर सभी मुझे याद करेंगे,
बस उनके मतलब के दिन तो आने दो।

दोस्तों के साथ हमेशा रहेंगे खड़े,
देख लेंगे सबको चाहे छोटे हो या बड़े,
हम से लड़ने कि सोचना मत वर्ना,
दफ़न कर देंगे जहाँ मिलोगे तुम खड़े।

बदमाश तो हम जन्म से हे,पर कभी कोई,
BADMASHI दिखाई नही,जिस दिन,
Badmashi देखा दी,उस दिन लोगो,
का घर से निकलना मुश्किल हैं।

सुन छोरी तू अपने “Boyfriend”की चाहे कितनी,
भी तारीफ़ कर ले लेकिन तेरा “Boyfriend” भी,
मेरे ही “Status Copy” करता है।

हम तो बस अपनी इसी अदा पर इतना गुरुर करते हैं,
चाहे प्यार हो या नफरत भरपूर करते हैं।

तुझे क्या लगता है तेरी स्माइल पे मै,
फिसल जाउंगी, बाइक की राइडर हूँ,
पगले कट मार के निकल जाउंगी।

माना की तेरी एक आवाज से भीड हो जाती हे,
लेकिन हम भी राजपूत हे,
हमारी एक ललकार से पूरी भीड़ बिखर जाती हे।

जली को आग और बुझी को राख कहते है,
और जिसका status तुम पढ़ रहे हो,
उसे Attitude का बाप कहते है।

जहाँ से तेरी बदमाशी ख़तम होती हैं,
वह से मेरी नवाबी शुरू होती हैं।

आजकल हमने खरीदी है,
शराफत अपने शौक बेचकर,
वरना सिक्के तो जमाने में,
मेरी बदमाशी के चलते है।

पानी सिर के उपर जा चुका है,
अब तो जंग पक्की है,
मयान पर नजर गड़ने से क्या होगा,
तलवार तो तोलिए में रक्खि है।

मेरा दिल तोड़ने से पहले मेरे दोस्तो के तरफ देख लेना,
कहीं ऐसा ना हो बिन पैरों घुंघरु मुजरा करना पड़े।

जिगर वालेयां दा डर नालो कोई वास्ता नहीं हुँदा,
अस्सी तान कदम ही ओथे चुकदे सी जिथे कोई रास्ता नई हुँदा।

कोइ गैंग नही हे मेरी पर पहचान ऐसी हैं,
की हर गैंग का आदमी इस चेहरे,
को देख के सलाम ठोकता है।

इन्कार रहे हो मुझे आज,
मेरे हालातो को देखकर,
बनुगा एक दिन इतना काबिल,
मिलोगे मूझसे वक्त लेकर।

हम भी नवाब है लोगो की अकड़ धुएं की तरह उड़ाकर,
औकात सिगरेट की तरह छोटी कर देते है।

तू कूत्या गेल खेल्या है कदे बेटा शेर कै ना फसिये,
बालका प हाथा-पाइ करी है तनै कदे म्हारे ना खसिये।

प्यार एक ऐसा वर्ड है अगर लड़की समझ जाए तो लड़का नहीं समझता,
और अगर लड़का समझ जाए तो लड़की नहीं समझती,
और अगर दोनों समझ जाए तो घर वाले नहीं समझते।

दूसरों को जलाना एक हुनर है,
जो हमें बखूबी आता है,
तुम जलते हो तो थोडा और जलो,
मेरे बाप का क्या जाता है।

देख भाई इधर-उधर मत देख हर कोई अपने नसीब का खाता है,
इसलिए तू बेफालतू में मत जल,
ओर अगर जलता है तो जलता रह अपने बाप का क्या जाता है।

बदमाशी छोड़ दी हमने,
दुश्मन जानते हैं अभी भी,
खौफ देख हमें बाप मानते हैं।

अकेला आया था, अकेला ही जाऊंगा,
हाँ हारा हूँ एक ना एक दिन जीत के दिखाऊंगा।

पीने पिलाने की क्या बात करते हो,
कभी हम भी पिया करते थे,
जितनी तुम जाम में लिए बैठे हो,
उतना हम पैमाने पर छोड़ दिया करते थे।

उम्मीद करते है की, आपको यह हमारा बदमाशी शायरी आपको जरूर पसंद आया होगा। आप हमारा यह लेख अपने मित्रो के साथ साझा कर सकते है, और हमें कमेंट में बता सकते है आपको हमारा यह लेख कैसा लगा।

Leave a Comment