(54+तरीके) वेबसाइट ब्लॉग का ट्रैफिक कैसे बढ़ाएं (डेली 10K विसिटर) हिंदी में


वेबसाइट ब्लॉग का ट्रैफिक कैसे बढ़ाएं: क्या आप अपने Blog और Website traffic को लेकर काफी चिंतित हैं? यहाँ तक कि आपने Almost सभी मेथड का उपयोग कर लिया है पर कोई फयदा नहीं हुआ।

चिंता न करें… यहाँ मैं आपको बताऊंगा Website/Blog Traffic कैसे बढ़ाये।

ब्लॉग बनाना बहुत आसान है किंतु उस पर traffic लाना बहुत ही मुश्किल काम है। पर ये काम उतना भी मुश्किल नहीं है। Quality content, सही SEO, content marketing, Backlinks, Promotion आदि के द्वारा आप अपनी Blog और website traffic आसानी से बढ़ा सकते हैं।

इस आर्टिकल में, मैं आपको वो सभी Tricks बताऊंगा जो मैं अपनी Blog traffic Increase करने के लिए उपयोग करता हूँ।

Blog और Website Traffic क्यों जरूरी है

वेबसाइट की growth के लिए traffic बहुत महत्वपूर्ण है। आसान शब्दों में कहें, तो वेबसाइट के लिए ट्रैफ़िक पेट्रोल की तरह है। जैसे-जैसे आपका ट्रैफ़िक बढ़ता है, वैसे-वैसे आपकी Brand awareness बढती है।

  • यह विजिटर के बारे में जानकरी इकट्ठा करता है (अर्थात विजिटर क्या पढना चाहते है) और सही decisions (निर्णय) लेने में मदद करता है।
  • आपकी SEO और search engine credibility में सुधार होता है।
  • यह conversions rate को बढ़ाता है और अधिक customers प्राप्त करने में मदद करता है।
  • Adsense से अच्छी earning करने के लिए।

इन लाभों को प्राप्त करने के लिए website traffic बहुत जरूरी है।

क्या सभी Website और Blog Traffic समान हैं

इसका जवाब है – नहीं 😟…

वेबसाइट ट्रैफ़िक अलग-अलग source, locations और devices से आता है। यहां तक कि अलग-अलग ब्राउज़र से।

उदाहरण के लिए,

यदि लोग आपकी वेबसाइट पर जाने के लिए अपने ब्राउज़र में Website और Blog address टाइप करते हैं, तो इसे direct traffic कहा जाता है। कारण ये लोग सीधे आकी वेबसाइट पर गए है।

लेकिन अगर आप Google Searches से अपनी वेबसाइट के लिए ट्रैफ़िक प्राप्त करते हैं, तो इसे organic traffic कहा जायेगा।

Website और Blog के लिए 5 sources हैं:

  • Social traffic
  • Organic search traffic
  • Direct traffic
  • Other traffic
  • Referral traffic

Social traffic: जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है social media platforms से आने वाली ट्रैफिक Social traffic कही जाती है।

Organic search: यह सर्च इंजन से आने वाला ट्रैफिक होती है। और इसे सबसे अच्छी ट्राफिक मानी जाती है।

Direct traffic: जब विजिटर किसी वेबसाइट पर जाने के लिए website address टाइप करते हैं, तो इसे direct traffic कहा जाता है।

Other traffic: Google Analytics में ये ट्रैफिक Google के default system द्वारा recognized नहीं हो पाती है और Other traffic के रूप में show होती है।

Referral traffic: यह विज़िटर को एक वेबसाइट से अन्य साइटों पर भेजता है। जब कोई विजिटर hyperlink पर क्लिक करके नयी वेबसाइट पर जाता है, तो referral traffic माना जाता है।

तो चलिए शुरू करते है Website और Blog traffic कैसे बढ़ाये…

वेबसाइट पर ट्रैफिक कैसे बढ़ाये – Blog Par Traffic Kaise Badhaye

आपको अपनी Website और Blog traffic बढ़ाने के लिए Copywriting और SEO में एकदम Expert होना जरूरी नहीं है। बस आपको कुछ बिशेष पहलुओं का ख्याल रखना होगा। जिन्हें मैं नीचे बताया है।

1. Quality Content Publish करें

Website और Blog traffic बढ़ाने के लिए यह सबसे पहला और जरूरी स्टेप है। कारण आपकी कंटेंट विजिटर के लिए Useful नहीं होगी और वह विजिटर के प्रॉब्लम को Solve नहीं कर पायेगी, तो वह दुबारा आपके साईट को विजिट करना पसंद नहीं करेगा।

साथ ही गूगल Quality Content पर अधिक फोकस करता है और उन्हें सर्च इंजन में Top रैंक प्रदान करता है। हालंकि जब Google किसी कंटेंट को रैंक करता है, तो वह कई प्रकार की Ranking factor का उपयोग करता है। लेकिन Content quality अभी भी बहुत महत्वपूर्ण है। यहाँ एक गाइड है – SEO friendly Blog Post कैसे लिखें (12 Best Tips)

यदि आप अपनी साईट पर Low quality content/thin content पब्लिश करते है, तो Google आपकी साईट रैंकिंग को decrease कर देगा।

बहुत सारे Low quality content/thin content आपकी site को सर्च penalty की तरफ ले जाते है। आसान शब्दों में कहें, तो आपकी कंटेंट सर्च इंजन में नजर नहीं आयेगी।

2. आपकी कंटेंट की Length

आपकी कंटेंट length सर्च इंजन में बहुत मायने रखती है। Long कंटेंट short कंटेंट की तुलना में सर्च इंजन में बेहतर परफॉर्म (रैंक प्राप्त) और अधिक Traffic प्राप्त करते है। इसलिए हमेशा detailed, high-quality, lengthy posts लिखने का प्रयास करें।

पर एक बात का ध्यान रखें आपनी कंटेंट length को बढ़ाने के लिए उसमें बकवास चीजे न लिखे। क्यूंकि जब रीडर आपके कंटेंट को पढ़ेगा, तो वह फिर से आपके साईट पर आना पसंद नहीं करेगा।

बेहतर तरीके से समझने के लिए यहां Search Engine Land पर एक गाइड है – The SEO And User Science Behind Long-Form Content

आपको अपने टॉपिक के जरुरत के हिसाब से कोई भी पोस्ट लिखना चाहिए। पर कोई भी पोस्ट कम से कम 300 शब्दों के जरूर होने चाहिए।

3. Keyword Research

Website और Blog traffic बढाने के लिए Keyword Research बहुत जरूरी है। यह SEO में आने वाला सबसे महत्वपूर्ण स्टेप है।

आप अपने ब्लॉग पर Regularly unique और बहुत ही useful आर्टिकल पब्लिश करते हैं, लेकिन आर्टिकल के लिए Keyword Research नहीं करते हैं, तो आपकी साइट Google search result में रैंक नहीं करेगी और आपकी साइट Oragnic traffic प्राप्त नहीं कर पायेगी। यहाँ एक आर्टिकल है –Keyword Research Kaise Kare in Hindi

Keyword Research करना कोई मुश्किल काम नहीं है। मार्केट में कई बेहतरीन टूल और वेबसाइट हैं जो आपको अपने आर्टिकल से related best keyword खोजने में मदद कर सकते हैं। यहाँ मैंने कुछ Best Keyword Research Tools की एक लिस्ट बनायीं है जिन्हें आप अपने आर्टिकल के लिए उपयोग करके आसानी से अच्छे कीवर्ड खोज सकते है।

हमेशा low competition और high searches वाली keywords को सेलेक्ट करें और इसके लिए आप Google AdWords Keyword Planner उपयोग कर सकते हैं।

4. Long Tail Keywords का उपयोग करें

3 से अधिक शब्दों से बने कीवर्ड को “Long Tail Keywords” कहा जाता है। Long Tail Keywords सर्च इंजन को पोस्ट के कॉन्टेंट को समझने में मदद करते है।

अतः Long Tail Keywords आपकी website traffic बढाने में अहम भूमिका निभा सकते है। ये बहुत ज्यादा targeted होते है। साथ ही आपके साईट पर Organic traffic बढाने में मदद करते है।

जैसे, मुझे एक “Website Blog Par Traffic Kaise Laye in Hindi” आर्टिकल की तलाश हैं, तो मैं केवल Website Traffic लिखकर सर्च नहीं करूंगा। क्यूंकि मुझे accurate रिजल्ट नहीं मिलेगी। इसलिए मुझे “Website Par Traffic Kaise Laye” या “Website blog KI Traffic Kaise Badhaye” लिखकर ही सर्च करनी होगी।

Short Tail Keywords से सर्च इंजन में बहुत हीं कम सर्च किया जाता है, क्योंकि हम जानते हैं सर्च इंजन हमें एक्यूरेट रिजल्ट नहीं देगा।

आप भी जब सर्च इंजन में कुछ सर्च करते होंगे, तो  एक पूरा सवाल हीं लिख कर सर्च करते होंगे। कारण आपको accurate रिजल्ट मिलें।

Long Tail Keywords उपयोग करने के Benefits

  • Less competition.
  • Better conversion rates.
  • Search result में अच्छा रैंक करते है.
  • Search engines से अधिक traffic प्राप्त करने में मदद करते है.

Long Tail Keywords के लिए आप नीचे दिए Tools का उपयोग कर सकते है: 

  • Answer the Public – यह Google and Bing द्वारा प्रदान किए गए keyword research का सुझाव देता है और एक unique proposition प्रदान करता है। इस टूल का उपयोग करके, आप long tail keywords आसानी से ढूंढ सकते हैं। आप जिस keywords के लिए search करते है यह उससे related keywords भी दिखाता है।
  • Google AutoComplete Tool – यह आपको किसी भी niche के लिए Long-tail keywords ढूंढने की अनुमति देता है। यहां, आपको अपने main keyword को टाइप करना होगा। यह आपको Long-tail keywords की एक list दिखायेगा। बस उसमें से आपको best long-tail keywords चुनना होगा।
  • Google Auto-Suggest – गूगल सर्च में अपनी main keyword enter करें यह आपको keyword से related सर्च keyword दिखाना शुरू कर देगा। जैसा कि आप नीचे स्क्रीनशॉट में देख सकते है।
best keyword research tool
  • Google Keyword Planner – Google keyword planner सबसे अच्छा और free keyword research tool है जो Google द्वारा डेवलप्ड की गयी है। इसकी मदद से आप किसी भी प्रकार के keyword आसानी से ढूंढ सकते है चाहे वह long tail keyword हो या कुछ भी। इस Google keyword planner tool का उपयोग करके, आप keyword competition, monthly searches, CPC और बहुत सारी चीजो का पता लगा सकते है।
  • Soovle – यह भी एक बहुत ही popular टूल है जो long tail keywords को खोजने में मदद करता है।
  • Google related keywords search – यदि आप किसी free long tail keyword tool की तलाश कर रहे हैं, यह trick भी आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। जब आप Google में कुछ भी खोजते हैं, तो सर्च रिजल्ट के बाद आपको नीचे कुछ keywords दिखाई देते है जो long tail keywords होते हैं। आप इन्हें अपने आर्टिकल में long tail keywords के रूप में उपयोग कर सकते हैं।
  • Ubersuggest – Neilpatel द्वारा डेवलप्ड यह बहुत अच्छा और popular keyword suggestion tool है। इस टूल की मदद से आप अपने ब्लॉग पोस्ट के लिए आसानी से अच्छी long tail keywords प्राप्त कर सकते हैं और इसे उपयोग करना भी आसान है।

5. अपनी Site की Loading Speed को ठीक करे

यदि आपकी साइट लोड होने में अधिक समय लेती है, तो Google आपकी साईट को सर्च रिजल्ट में अच्छी रैंक नहीं देगा। कारण Google Page speed को एक ranking factor के रूप में उपयोग कर रहा है। इसलिए आपको इस पर ध्यान देने की जरूरत है।

साथ ही, विजिटर भी slow loading साईट पर विजिट करना पसंद नहीं करते है। वे तुरंत slow loading साईट से exit कर देते है और दुबारा उस साईट पर विजिट नहीं करते है। तुरंत exit के कारण, site की Bounce rate बढ़ जाती है जो गूगल के नजर में अच्छी बात नहीं है।

फास्ट लोडिंग website blog ranking & user experience दोनों को प्रभावित करती है और सर्च रिजल्ट में अच्छी रैंक करती है।

Website blog loading speed को बेहतर करने के लिए Quick tips

  • PHP 7.2 में upgrade करें
  • अपनी Image size को Optimize करें
  • केवल उपयोगी plugins को रखें
  • Unwanted media को Delete करें
  • CSS and JS Files को Minify करें
  • अच्छी Cache plugin का उपयोग करें
  • Redirects को Minimize करें
  • अच्छी वेब होस्टिंग का उपयोग करें
  • Database को ऑप्टिमाइज़ करें

इसके अलावा नीचे कुछ गाइड दिए गए हैं जो आपकी site loading speed को Blazing fast कर सकते हैं।

6. SEO friendly URLs का उपयोग करें

SEO friendly URL भी onPage SEO से belong करता है। यह सर्च इंजन को समझने में मदद करता है कि आपकी post किस बारे में है। साथ ही अपनी URL को छोटा और readable create करने की कोशिश करें।

चुकी WordPress का default URL structure SEO friendly नहीं है और यह कुछ इस तरह दिखता है।

https://domain.com/?p=123

लेकिन चिंता न करें आप इसे आसानी से SEO friendly बना सकते हैं। बस आपको Settings >> Permalinks आप्शन पर क्लिक करना है और “Post name” सेलेक्ट करना है।

https://www.domain.com/sample-post/

website traffic kaise badhaye

यदि आपकी साइट बहुत पुरानी है, तो इसे छोड़ दें। अन्यथा, आपकी जितनी भी शेयर URL है 404 errors दिखाना शुरू कर देगी।

7. नए आर्टिकल के साथ पुराने आर्टिकल को लिंक करें

जब आप अपने नए आर्टिकल से पुराने आर्टिकल को लिंक करते है, तो इसे internal linking कहा जाता है।

इसके कई सारे फायदे होते है:

  • Link juice pass करते है।
  • Page views Boost करते है।
  • Bounce rate को reduce करते है।
  • आपके कंटेंट को और भी Informative और user friendly बनाते है।
  • Google को आपकी साईट Crawl करने में मदद करता है।
  • आपकी ब्लॉग SEO को Improve करता है।

Backlinks एक बहुत ही पुरानी Google ranking factors हैं जिसे Google किसी कंटेंट को पहले पेज पर रैंक करने के लिए इसका उपयोग करता है। यह आपकी साईट की domain authority, Website/Blog traffic और रैंकिंग को बढ़ाने में मदद करता है।

लेकिन bad/spammy/buy या low-quality backlinks आपके वेबसाइट की रैंकिंग को बहुत नुकसान पहुंचा सकता है। Google आपके साईट को सर्च रिजल्ट में अच्छी रैंक नहीं देगा। कहने का मतलब है आपका कंटेंट सर्च रिजल्ट के दसवें पेज में रैंक करेगी या सर्च रिजल्ट में नजर भी नहीं आयेगी। यहाँ एक गाइड है – Website Se Bad Backlinks Remove Kaise Kare

यदि आप अपनी Website और Blog traffic increase करना चाहते है, तो हमेशा high-quality backlinks create करने का प्रयास करें। 100 quality backlinks 1000 low-quality backlinks के बराबर होते हैं। आप हमारे इस आर्टिकल को पढ़ सकते है – Website Ke Liye High-Quality Backlinks Kaise Banaye

Backlinks आपकी Website और Blog की traffic में बड़ा बदलाव ला सकते हैं।

9. साइट को HTTP से HTTPS पर Move करें

Google अभी अधिक सुरक्षित वेब चाहता है। इसलिए Google HTTPS को एक ranking factors के रूप में इस्तेमाल कर रहा है। जिन Sites पर HTTPS enable है वे Google सर्च रिजल्ट में बेहतर रैंक प्राप्त कर रही है।

बेहतर रैंक = अधिक ट्रैफिक

Google Chrome ने उन साइटों को Unsafe दिखाना शुरू कर दिया, जो अभी भी HTTP का उपयोग कर रही हैं। और जब कोई visitors ऐसा कोई (Unsafe) message देखता है, तो वह तुरंत उस साईट से exit कर देते है। नतीजतन Website और Blog मालिक वह traffic खो देते है।

यदि आपकी साईट अभी भी HTTP है, तो उसे तुरंत HTTPS पर move करें। यहाँ एक गाइड है – WordPress Site Ko HTTP Se HTTPS Par Move Kaise Kare

10. Title और Meta Descriptions का Optimize करें

अपनी ब्लॉग पोस्ट Title को हमेशा Attractive और unique लिखें। क्यूंकि SERPs में यह विजिटर पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालते हैं।

यदि आपकी टाइटल विजिटर को अच्छी नहीं लगेगी, तो वह आपके कंटेट पर क्लिक नहीं करेगा। भले ही आपकी आर्टिकल कितनी भी अच्छी क्यूँ न हों।

टाइटल के लिए 50–60 characters का उपयोग करें। यदि आप अपनी टाइटल के लिए  50–60 से अधिक characters का उपयोग करते है, तो वह सर्च रिजल्ट में पूरी दिखाई नहीं देगी।

इसके अलावा, पोस्ट टाइटल की शुरुआत में अपना main keyword जोड़ें। यह आपको सर्च रिजल्ट में अच्छी रैंक प्राप्त करने में मदद करता है। लेकिन एक बात का ध्यान रखें, आपका कीवर्ड low-competition वाला हो और लोग उस कीवर्ड को सर्च करते हो।

Meta description वह text होता है जो search results में टाइटल के नीचे दिखाई देता है। यह आपकी कंटेंट पर Click Through Rate (CTR) को बढ़ाने में मदद करता है।

Meta description में भी अपनी Main Keyword का उपयोग करें। Google आमतौर पर meta description के लिए 150-160 characters लिखने की अनुमति देता है।

11. Keyword Stuffing नहीं करें

कंटेंट लिखते समय आप उसमें बहुत अधिक या बलपूर्वक कीवर्ड डालते हैं, तो इसे Keyword Stuffing कहा जाता है। यह readability के अंतर्गत रीडर पर खराब user experience बनाता है और गूगल इसे बिलकुल पसंद नहीं करता है।

यदि आप WordPress SEO Guide आर्टिकल की तलाश कर रहे है, तो आगे न देखें। हमारी यह WordPress SEO Guide सबसे Best है जिन्हें आप अपनी साईट के लिए उपयोग कर सकते हैं। इस आर्टिकल में WordPress SEO Guide से जुडी Latest technique बताई गयी है।

आप सोचते है कि पेज में कीवर्ड भरने से आपकी Website और Blog traffic बढ़ जाएगी, तो आप बिलकुल गलत सोच रहे है। आपकी साईट पर इसका विपरीत प्रभाव पड़ता है। यह Strategy साइट को search penalty की ओर ले जाती है।

12. आपनी साइट को Mobile Friendly बनायें

मोबाइल user की संख्या में बहुत अधिक बढ़ोतरी हुई है और यह पूरी तरह से desktop सर्च पर हावी हो चुकी है। इसलिए मोबाइल user experience को बेहतर करने के लिए Google मोबाइल friendliness को भी एक ranking factor के रूप में उपयोग कर रहा है। यहाँ गाइड है – Website Ko Mobile-Friendly Kaise Banaye

यदि आपकी साइट mobile friendly नही है, तो Google mobile search के लिए आपकी साइट रैंकिंग को कम कर देगा। जिससे आपकी साइट Google सर्च रिजल्ट में top रैंक नही कर पायेगी और आप अपनी साइट के लिए बहुत सारे traffic खो देंगे।

आपकी साइट mobile friendly है या नही इसे चेक करने के लिए आप गूगल द्वारा developed Mobile Testing Tool का उपयोग कर सकते है। आपकी साइट mobile friendly नही है, तो आपको अपनी साइट पर एक Responsive WordPress theme इनस्टॉल करने की आवश्यकता है।

13. अपनी Site के Images को Optimize करें

Image भी आपकी Website और Blog traffic बढाने में काफी मदद कर सकते है। इसलिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आप अपनी साइट Images के लिए उचित नाम और ALT Tag का उपयोग करे। यह आपको image search से अच्छी ट्रैफिक प्राप्त करने में मदद करता है।

इसके अलावा यदि आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर बहुत सारे images का उपयोग करते है, तो उन्हें Resize और Compress करना बहुत जरूरी है। यह आपकी image साइज को कम करता है और आपके साइट लोड टाइम को improve करता है। यहाँ एक गाइड है – SEO के लिए Images Optimization कैसे करें

14. पहले 100 Words में अपना Main Keyword डालें

अपने main keyword/focus keyword को आर्टिकल के पहले 100 से 150 words में एक बार जरूर उपयोग करें। इससे Google को यह समझने में मदद मिलती है कि आपकी content किस बारे में है।

साथ ही, अपने साइट के पहले कुछ paragraph में महत्वपूर्ण पोस्ट जरूर लिंक करें। यह आपके कंटेंट को अधिक SEO friendly बनाता है और आपके कंटेंट को सर्च रिजल्ट में टॉप रैंक प्राप्त करने की संभावना बढ़ जाती है।

15. साइट की Visibility Settings चेक करें

वर्डप्रेस एक built-in Search Engine Visibility सेटिंग के साथ आता है जो सर्च इंजन Bots को आपकी वेबसाइट को Crawl & Index होने से रोकता है। यदि आप इस आप्शन को गलती से check कर देते है, तो सर्च इंजन आपकी साइट को Index और Crwal करना बंद कर देगा। जिससे आपकी साईट सर्च रिजल्ट में दिखाई नहीं देगी।

इसे चेक करने के लिए अपनी वर्डप्रेस साइट पर लॉग इन करें और Settings >> Readings page पर जाए और Search Engine Visibility आप्शन को uncheck करें।

16. Robots.txt File को Check करें

Robots.txt एक छोटी Text फ़ाइल होती है जो आपकी साइट के रूट फ़ोल्डर में पाई जाती है। यह सर्च इंजन बॉट को आपकी साइट के specific directories या pages को क्रॉल और इंडेक्स करने से रोकता है।

इसे कस्टमाइज़ करके आप अपनी साइट की SEO और Ranking दोनों में सुधार सकते हैं। लेकिन इसमें जरा सी गलती आपके साईट की रैंकिंग को बहुत नुक्सान पंहुचा सकती है। यहाँ एक गाइड है – Robots.txt file क्या है और Perfect Robots.txt file कैसे बनाये

17. Fresh और New Posts नियमित रूप से पब्लिश करें

Google उन ब्लॉगों को अधिक महत्व देता है, जो नियमित रूप से पोस्ट पब्लिश करते हैं। यह आपकी रैंकिंग और ब्लॉग रीडर दोनों को बढ़ाता है। लेकिन आपकी कंटेंट Informative और उपयोगी होनी चाहिए। रीडर उन ब्लॉग को पढना अधिक पसंद करते है, जो रोज नए- नए और Unique idea के साथ content publish करते है।

यदि आप एक सप्ताह में 4 पोस्ट पब्लिश करते हैं, लेकिन अगले सप्ताह कुछ भी पब्लिश नहीं करते हैं, तो आपकी यह रणनीति सप्ताह में दो पोस्ट प्रकाशित करने से भी बदतर है।

ब्लॉग पर Broken Links (404 not found) आपकी ranking और user experience दोनों को प्रभवित करती है। यदि आपकी साईट पर बहुत अधिक Broken Links है, तो Google आपकी साईट को crawl करना कम कर देगा। सर्च इंजन (Google) समझेंगा कि Website और Blog ओनर साइट को अच्छी तरह से maintain नहीं करता है।

साथ ही जब कोई विजिटर ऐसी कोई साईट पर विजिट करता है जिसपर Broken Links की संख्या बहुत अधिक है, तो वह फिर से उस साईट पर जाना पसंद नहीं करता है। यहाँ एक गाइड है – WordPress Me Broken Link Fix Kaise Kare

मान लीजिये आप किसी साईट पर विजिट करते है और जब किसी भी लिंक पर क्लिक करते है, तो आपको 404 not found error दिखाई देता है, तो क्या आप उस साईट पर फिर से जाना पसंद करेंगे?

लेकिन चिंता न करें, WordPress.org में एक मुफ्त Broken Link Checker plugin है जो आपके ब्लॉग पर broken internal और external links को fix करने में मदद करता है। साथ ही यह प्लगइन ऑटोमेटिकली Broken Link के लिए ‘nofollow’ टैग सेट करता है ताकि सर्च इंजन उन्हें follow न करें।

19. Google Webmaster Tools में होने वाले Errors की जाँच करें

Google Webmaster Tools में होने वाली Errors जैसे mobile issues, security issues and crawl errors को regularly चेक करें। यदि आपकी साइट पर बहुत अधिक Errors हैं, तो Google आपकी साइट को बहुत धीरे-धीरे क्रॉल करेगा। Crawl process को fast करने के लिए, उन Errors को जल्द से जल्द ठीक करें।

Google Webmaster Tools में आने वाले security issues पर खास ख्याल रखें। कारण जब Webmaster Tools आपको security issues के लिए notify करता है लेकिन आप उसे गंभीरता से नहीं लेते है, तो Google आपकी साईट की Ranking को कम कर देगा।

अतः आपकी साईट पर ट्रैफिक नहीं आने का यह भी एक कारण हो सकता है।

Affiliate Links और untrusted/spammy लिंक आपकी साइट की रैंकिंग को बहुत नुक्सान पहुंचाते है। यदि आप अपनी कंटेट में Affiliate Links और Untrusted links Add करते हैं, तो उनके लिए rel = “nofollow” टैग जरूर सेट करें।

इसके लिए आप Ultimate Nofollow प्लगइन का उपयोग कर सकते हैं। यह प्लगइन आपको अपने ब्लॉग में rel = “nofollow” टैग पर full control प्राप्त करने में मदद करता है और सर्च इंजन bots को लिंक ‘follow’ नहीं करने के लिए कहता है।

इसके अलावा, यदि आप  अपनी ब्लॉग की Affiliate Links मैनेज करने के लिए प्लगइन का उपयोग करते हैं, तो आप आसानी से अपने Affiliate Links के लिए No-Follow attribute सेट कर सकते हैं।

21. अपनी साइट का DA बढ़ाये

Domain authority (DA), Moz द्वारा developed एक metric है जो आपकी साईट की reputation को दर्शाती है। Higher domain authority साइटें सर्च इंजन में उच्च रैंक और अधिक ट्रैफ़िक प्राप्त करती हैं। यहाँ एक गाइड है – Website Ki Domain Authority Kaise Badhaye

Domain authority 1 से 100 के पैमाने पर बनाया गया है। आप आपनी साईट की DA Moz का free tool, Open Site Explorer का उपयोग करके चेक कर सकते हैं।

Domain Authority को बढ़ाने के लिए Quick tips,

  • Quality content पब्लिश करें।
  • On-Page SEO – DA बढाने में Vital role निभाते है।
  • Internal Linking.
  • High-quality backlinks create करें।
  • Bad links को Disavow करें.
  • धैर्य रखें और अपने डोमेन को पुराना होने दें।

22. Heading Tags

H1 tag सर्च इंजन को यह समझने में मदद करता है कि आपका पेज किस बारे में है और आपकी रैंकिंग को Boost करता है। लेकिन बाद बाकी Heading tags आपकी साइट के लिए कोई अहम रोल नहीं निभाते है।

मार्केट में कई ऐसी वर्डप्रेस थीम हैं जो टाइटल के लिए H1 टैग का उपयोग नहीं करते हैं। यदि आप अपने ब्लॉग या website के लिए ऐसी किसी थीम का उपयोग करते हैं, तो आपको अपने टाइटल के लिए H1 टैग का उपयोग करना चाहिए। कभी भी H1 टैग को एक से अधिक बार उपयोग न करें।

इसके अलावा Heading Tags आपको एक Readable blog post create करने में मदद करते है। मान लीजिये आप कोई पोस्ट लिखते है जिसकी length 5000-6000 words की है लेकिन उसमें proper Heading Tags इस्तेमाल नहीं किया है, तो रीडर के लिए वह पोस्ट पढने में मुश्किल हो जायेगा।

23. पोस्ट की URL को छोटा रखें

अपने पोस्ट के लिए छोटा और readable URL create करें। लंबे URL सर्च रिजल्ट पूरी दिखाई नहीं देते हैं। इसके अलावा, वे बुरे दिखते हैं और Visitors पर एक बुरा ‘impression’ बनाते हैं।

सर्च इंजन (Google) Short URL को अधिक पसंद करता हैं और वे Descriptive भी होने चाहिए।

24. अच्छी Web Hosting खरीदें

आपकी Website और Blog traffic बढाने के लिए एक अच्छी Web Hosting बहुत जरूरी है। यदि आप एक Web Hosting चुनने में गलती करते हैं, तो यह आपके WordPress SEO और ट्रैफिक दोनों को प्रभावित करेगा।

इसका कारण, आपकी वेबसाइट अधिकतर समय डाउनटाइम में ही रहेगी और आपकी साईट बहुत बहुत धीरे-धीरे लोड होगी। यहां मैंने कुछ Best Web hostings की एक List बनायीं है जिनका उपयोग कर सकते हैं।

25. SEO Friendly Theme का उपयोग करें

यदि आप अपनी Website या Blog पर traffic लाना चाहते है, तो एक अच्छी WordPress theme सेलेक्ट करना बहुत जरूरी है। चूंकि सभी वर्डप्रेस थीम SEO Friendly नहीं होती है और उनकी कोडिंग भी अच्छी नहीं होती है।

यदि आप अपनी साइट के लिए गलत थीम चुनते हैं, तो यह आपकी page loading speed और SEO दोनों को प्रभावित करता है।

यहाँ मैंने कुछ Best SEO Friendly WordPress Themes की लिस्ट त्यार की है। ये सभी थीम fully SEO optimized है और Well coding के साथ डिजाईन की गयी है। जो आपकी WordPress वेबसाइट को अधिक SEO friendly बनाने में मदद कर सकते है।

26. Post पब्लिश करने के बाद उसे Social Media पर Promote करें

आज प्रत्येक यूजर सोशल मीडिया साइट के साथ engage है। ऐसा ही कोई यूजर होगा जो सोशल मीडिया साइट का उपयोग नही करता होगा।

अतः अपनी पोस्ट पब्लिश करने के बाद उसे पॉपुलर social media साइट पर शेयर करना न भूलें जैसे कि Facebook, Twitter, LinkedIn और Pinterest…. ये प्लेटफार्म आपके साइट पर ढेरों सारा ट्रैफिक ला सकते है।

27. अपनी पोस्ट के अंदर Social Share Button का उपयोग करे

अपनी प्रत्येक पोस्ट के नीचे या पोस्ट के शुरुआत में Social share button का उपयोग जरूर करें। ताकि रीडर आपके पोस्ट को अपने favourite social platform पर आसानी से शेयर कर सकें। यह technique भी आपके Website या Blog पर अच्छा खासा traffic generate कर सकता है। यहाँ एक गाइड है – WordPress Me Social Media Share Buttons Kaise Add Kare (4 Easy Ways)

28. अपनी साइट का Design Clean और Simple रखें

साइट का डिज़ाइन यूजर पर बहुत बड़ा impression बनाता है। मार्केट में बहुत सारे WordPress themes है जो आपके साइट को क्लीन और सिंपल डिज़ाइन देते है। लेकिन कई ऐसे beginner है जो अपने साइट को इतना colourful बना देते है कि वे रीडर के ध्यान को distract करने लगता है।

खराब डिज़ाइन विजिटर की संख्या को कम कर देते है। जबकि एक अच्छी डिज़ाइन साइट पर visitors की संख्या को बढ़ाता है और उन्हें साइट पर और अधिक कंटेंट खोजने में मदद करता है।

29. अपने Old Article को Social Media Site पर शेयर करें

अपने old articles को नियमित रूप से सोशल मीडिया साइट पर शेयर करें। यह आपके Website और Blog traffic को बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा, आपके नए ब्लॉग रीडर को आपकी पुरानी पोस्ट के बारे में पता चलता है।

Automatic शेयर के लिए आप Buffer या Revive Old Post प्लगइन का उपयोग कर सकते है। ये प्लगइन आपके पुराने पोस्ट को ऑटोमेटिकली सोशल मीडिया साइट पर शेयर करते है।

30. Q & A Websites Join करें

Q & A Websites भी आपकी Website और Blog पर traffic बढ़ाने का अच्छा जरिया हो सकते है। इन साईट को जॉइन करने के बाद यूज़र्स के सवाल के लिए केवल अपनी वेबसाइट लिंक add नही करें। बल्कि detailed answer के साथ लिंक add करें।

यहाँ कुछ बेस्ट Q & A Websites की लिस्ट दी गयी है,

  • Quora
  • Mind the book
  • Amazon Askville
  • Yahoo! Answers
  • Stack Overflow
  • LinkedIn Answers
  • Super User
  • Answers.com

31. अपनी वेबसाइट की Ranking Keywords को Track करें

अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर  कंटेंट पब्लिश करने के बाद ranking keywords भी चेक करना बहुत जरूरी टास्क है। इसके लिए आप Google Search Console tool का उपयोग कर सकते है। जो कि बिल्कुल फ्री है और Google द्वारा डेवलप्ड किया गया है।

यहां मैंने Google Search Console tool पर एक Complete गाइड शेयर किया है जिसे आप चेक कर सकते है – Google Search Console Overview– Complete Beginner’s Guide हिंदी मे

यह टूल आपको अपनी साइट पर आसानी से  रैंकिंग कीवर्ड पता लगाने में मदद करता है। अगले स्टेप में आपको अपनी Competitor की website को मॉनिटर करना होगा। इसके लिए आपको SEMrush और Ahrefs tool की जरूरत पड़ेगी। ये टूल आपकी competitor की वेबसाइट के बारे में detail insight प्रदान करते है।

32. अपनी ब्लॉग ट्रैफिक और User Engagement को Track करें

जब आप अपने ब्लॉग पर कुछ ट्रैफिक प्राप्त करने लगते है, तो उन्हें ट्रैक करें कि वे ट्रैफिक आपकी साइट पर कहाँ से आ रहे है? यूजर आपके ब्लॉग पर क्या पढ़ना पसन्द करते है।

इन सभी datas को analyze करने के बाद आप एक बेहतर प्लान बना सकते है और अपनी वेबसाइट यूजर के लिए उनकी जरूरत के अनुसार कंटेंट क्रिएट कर सकते है। आप Google Analytic Tool का उपयोग कर सकते है।

इसके अलावा जब यूजर comment section में कोई प्रशन पूछता है, तो उसपर भी एक सुंदर और informative आर्टिकल क्रिएट करें। उस यूजर की तरह और भी कई यूजर होंगे जो उस प्रशन के लिए आर्टिकल की तलाश कर रहे होंगे।

33. अपनी पोस्ट में Image Add करें

1 images 100 words के बराबर होते है। लेकिन इमेज आपके कंटेंट से रिलेटेड होनी चाहिए। जब आप अपनी आर्टिकल में images add करते है, तो यह आपके कंटेंट को और भी आकर्षक और useful बना देता है।

लेकिन एक बात का ध्यान रखें आप Google images को उपयोग नही कर सकते है। वे Copyright protected होते है और बाद में चलकर परेशानी का कारण बन सकते है।

आप free stock image sites (FreeDigitalPhotosMorgueFilePixabayPexels) से अपनी ब्लॉग के लिए images डॉउनलोड कर सकते है।

34. दूसरे टॉप ब्लॉग पर Guest Post करें

आपके Website या Blog की traffic बढ़ाने में Guest post भी बहुत effective तरीका है। जब आप किसी दूसरे टॉप ब्लॉग पर गेस्ट पोस्ट करता है और जब उस ब्लॉग के विजिटर को आपकी पोस्ट अच्छी लगती है, तो वह आपके ब्लॉग पर भी विजिट करेगा। इससे आपकी वेबसाइट पर views बढ़ेंगे। और साथ ही हो सकता है, वह आपके ब्लॉग का भी रीडर बन जाये।

इसके अलावा Guest post द्वारा आपको Do-follow backlink भी मिलता है। जो आपके साइट की DA और Ranking दोनों को improve करता है।

लेकिन एक बात का ध्यान रखें, जिस ब्लॉग पर आप Guest post करेंगे वह आपके ब्लॉग niche से सम्बंधित होनी चाहिए।

Guest post करते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें,

  • जिस साइट पर गेस्ट पोस्ट करेंगे उसकी DA और PA अधिक होनी चाहिए।
  • अपने ब्लॉग के niche से सम्बंधित ब्लॉग पर Guest पोस्ट करें।
  • पॉपुलर ब्लॉग पर Guest post करें।

35. दूसरे ब्लॉग पर Comment करें

आपके वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ाने का यह भी एक अच्छा तरीका है। जब आप दूसरे ब्लॉग पर कमेंट पर करते है, तो कई ऐसे विजिटर है जो आपके कमेंट द्वारा आपके साइट पर विजिट करते है।

लेकिन आपकी कमेंट बहुत ही attractive होनी चाहिए। अगर आप “Nice post”, “बहुत ही useful आर्टिकल है” आदि इस तरह के comment करते है, तो कोई आपके comment पर ध्यान नही देगा और आपके comment लिंक पर भी क्लिक नहीं करेगा।

Low quality या spammy साइट पर कभी भी comment न करें। यह आपके साइट के रैंकिंग को नुकसान पहुँचा सकते है। इसके अलावा अपने ब्लॉग niche से related ब्लॉग पर कमेंट करें।

36. Visitor के Comment का Reply करें

विजिटर के कमेंट को ingonre न करें। उनके प्रशनो का हमेशा reply करें। ताकि उसे दुबारा कोई problem होने पर आपकी साइट पर विजिट करें। साथ ही इससे विज़िटर और website owner के बीच अच्छा कनेक्शन बनता है।

इसके अलावा यदि आपके पोस्ट पर बहुत अधिक कमेंट रहते है, तो Google आपके पोस्ट को helpful समझता है और सर्च रिजल्ट में बेहतर रैंक देता है।

Spam कमेंट से बचें। अगर आपके पोस्ट पर कोई स्पैम कॉमेंट करता है, तो उन्हें डिलीट कर दें। यहाँ मैंने कुछ Best WordPress Antispam Plugins की एक लिस्ट बनायीं है जो आपके साईट पर Spam comment को handle करने में मदद करेंगे। 

37. अपनी कंटेंट की YouTube Video बनायें

गूगल के बाद YouTube सबसे पोपुलर सर्च प्लेटफॉर्म है। कई ऐसे यूजर है जो Google सर्च के बजाए अपनी problem के लिए YouTube पर सर्च करते है।

अतः आप अपनी कंटेंट की एक YouTube वीडियो बनाये और उसे YouTube पर upload करें। अपनी वीडियो के Description में blog post की link डाल दें। हो सकता है विजिटर वीडियो के डिस्क्रिप्शन में दिए गए लिंक पर क्लिक करके आपके ब्लॉग को विजिट करें।

इससे आपको एक और फायदा है आप YouTube पर video बनाकर अच्छा खासा पैसा कमा सकते है।

38. अपनी ब्लॉग पर Trending Article लिखें

अपने ब्लॉग niche से related trending आर्टिकल पर कंटेंट लिखें। यह आपको अधिक ट्रैफिक प्राप्त करने में मदद कर सकता है।

यदि trending आर्टिकल पर आपकी ब्लॉग Google के पहले पेज में रैंक करती है, तो आपकी वेबसाइट या ब्लॉग लाखों ट्रैफिक आसानी से प्राप्त कर सकती है।

Trending आर्टिकल का पता लगाने के लिए आप Google Trends का उपयोग कर सकते है।

39. Old Post को Update करें

अपनी पुराने पोस्ट को नई जानकारी के साथ अपडेट करें। इससे आपको सर्च इंजन में बेहतर रैंक मिलेगी। जो ब्लॉग अपनी कंटेंट को नई जानकारी की साथ अपडेट करते रहते है, सर्च इंजन उनके ब्लॉग को अधिक पसंद करते है। यहाँ एक गाइड है – Old Blog Post ko Update Kaise Kare

जब आप अपनी कंटेंट को अपडेट करते है, तो उसमें new image और video add करें। इस तरह आपकी पुरानी पोस्ट नई हो जाती है। पोस्ट को अपडेट करने के बाद सर्च इंजन (Google) को उसे फिर से क्रॉल करने को कहें

40. Email List Create करें

Email marketing आपके साइट पर 20-30% traffic आसानी से generate कर सकते है। Email द्वारा आप Users को अपने ब्लॉग पोस्ट पढ़ने के लिए invite कर सकते है।

यदि आप यूजर के email को collect करना चाहते है, तो सबसे पहले आपको अपने ब्लॉग पर एक अच्छा Email Subscription box जोड़ना होगा।

41. अपनी साईट के लिए एक Sitemap बनाएं

Sitemap आपकी साइट ट्रैफिक को बूस्ट तो नही करते है लेकिन सर्च इंजन बॉट्स को आपकी वेबसाइट कंटेंट को बेहतर क्रॉल और सर्च इंजन में तेज़ी से Index करने में मदद करता है।

यदि आप अपनी साइट पर Yoast SEO या Jetpack का उपयोग कर रहे हैं , तो वे आपको आसानी से XML Sitemap Create करने की अनुमति देते हैं।

42. Cache Plugin का उपयोग करें

किसी भी WordPress site के लिए Cache plugin बहुत महत्वपूर्ण है। Cache plugin का मुख्य लक्ष्य आपकी साइट के Page speed को कम करके User experience में सुधार करना है। यह आपकी साइट को सुपर fast बनाता है और आपके सर्वर पर लोड को कम करता है।

WordPress.org में बहुत सारे Caching plugins उपलब्ध हैं। लेकिन W3 Total Cache उन सब में सबसे बढ़िया प्लगइन है जो page caching, browser caching, object caching, database caching और minification जैसे feature के साथ आता है। इसके Alternative आप  WP Super Cache प्लगइन का उपयोग कर सकते हैं।

43. SEO Plugin का उपयोग करें

SEO plugin आपके WordPress साइट को और भी अधिक SEO friendly साइट बनाता है। यह आपको Indexing पर full control प्रदान करता है। इसके अलावा आप अपने कंटेंट के लिए एक Custom title और meta description लिख सकते है।

वर्डप्रेस साइट के लिए मार्केट में बहुत सारे SEO plugins मौजूद है। लेकिन मैं आपको Yoast SEO की सलाह दूंगा। यह WordPress site के लिए एक बहुत ही पोपुलर और सबसे अच्छा SEO plugin है। यह आपको onPage optimization को समझने में मदद करता है अर्थात onPage optimization के लिए आपको Suggestion देता है।

यदि आप एक नए blogger है, तो कंटेंट को बेहतर तरीके से ऑप्टिमाइज़ करने के लिए यह प्लगइन आपके लिए परफेक्ट साबित हो सकती है। यहाँ Yoast SEO Settings पर एक गाइड है।

Yoast SEO के Features

  • आप पोस्ट की SEO title और meta description बदल सकते हैं।
  • आर्टिकल के लिए Focus keyword प्रदन कर सकते है।
  • Sitemap बनाने की अनुमति देता है।
  • .htaccess and robots.txt फाइल एडिट कर सकते है।
  • Taxonomies (category and tags) के लिए SEO title और meta description लिख सकते है।
  • [Premium] Redirect manager
  • [Premium] Automatic internal linking suggestions
  • [Premium] Synonyms & related keyphrases
  • [Premium] offers News SEO, Video SEO, Local SEO और WooCommerce SEO extensions

44. Category और Tag Page को Noindex Set करें

यदि आप Category और tag पेज को सर्च इंजन में index करते है, तो ये pages आपके साइट के लिए सर्च इंजन में duplicate कंटेंट issue पैदा कर सकते है।

इससे आपकी Website/Blog traffic और रैंकिंग दोनों कम हो सकती है। यहाँ तक कि Google आपकी साइट को penalize भी कर सकता है। यहां एक गाइड है WordPress Categories Aur Tags Ko Noindex Kaise Kare

45. Author Archives को No-index सेट करें

यदि आप एक Single-Author Blog के owner रहे हैं, तो इसे Disable रखें। क्योंकि Author Archives पेज पर जो कंटेंट होंगे वही कंटेंट आपके Homepage पर भी दिखाई देंगे और डुप्लिकेट कंटेंट Issue का कारण बनेंगे।

आप author pages को disable या no-index करने के लिए WordPress SEO plugin (Yoast SEO) का उपयोग कर सकते हैं।

46. CDN का उपयोग करें

CDN आपकी साइट performance को बेहतर बनाता है। यह अपने सर्वरों पर आपकी साईट के कंटेंट का Cache version create करता है और Users को उन सर्वरों के माध्यम से कंटेंट serve करता है जो User के स्थानों से सबसे करीब होता हैं। यह आपके सर्वर लोड को कम करता है और website loading speed में सुधार करता है।

मार्केट में बहुत सारी CDN services उपलब्ध हैं। Currently, मैं अपनी साइट पर CloudFlare CDN का उपयोग करता हूं। यह एक बहुत ही Popular CDN service है जो free plan में भी SSL प्रदान करता है।

47. अपनी Title में Modifiers Word का उपयोग करें

2021”, “best”, “guide”, “checklist”, “fast” और “review” जैसे words को modifier words कहा जाता है। ये आपके टाइटल को attractive बनाने के साथ साथ यूजर पर भी अच्छा impression डालते है। यदि आप अपनी टाइटल में इन words का उपयोग करते है, तो आपके कंटेट पर क्लिक करने की संभावना बढ़ जाती है।

जब आप अपनी कंटेंट में external साइट से linking करते है, तो आपको कई सारी बातों का ध्यान रखना पड़ता है – उस साइट की कंटेंट आपकी साइट से related या useful होनी चहिये, वह साइट spammy नही होनी चाहिए, उसकी DA और PA भी अच्छी होनी चाहिए आदि।

यह technique आपके कंटेंट को visitors के लिए और भी useful बनाती है। साथ ही सर्च इंजन को समझने में मदद करती है कि आपकी कंटेंट किस बारे में है।

यदि आप अपने कंटेंट में केवल फोकस कीवर्ड का उपयोग करते है, तो यह onPage SEO के हिसाब से ठीक नही है। उसमें फोकस कीवर्ड से related keyword का भी उपयोग करें। ताकि सर्च इंजन आपके कंटेंट को बेहतर तरीके से समझ सकें और पहले पेज पर rank कर सकें।

50. कंटेंट में Keyword Density को Maintain करें

किसी भी पोस्ट में keyword density 1.5% – 2% होनी चाहिए। यदि आपकी कंटेंट छोटी है (700 words) और आप उसमें अपनी फोकस keyword को बहुत बार (10 या 11 बार) use करते है, तो यह SEO के हिसाब से अच्छा नही है। आपकी कंटेंट Google में कभी भी रैंक नही करेगी और यह Google द्वारा spam content के रूप में treat की जाएगी। [Keyword Density in SEO Hindi]

बार-बार focus/main keyword उपयोग करने से अच्छा है आप अपनी कंटेंट में Related/ LSI keywords का उपयोग करें।

51. Google Algorithms के साथ अपडेट रहे

Google algorithms के साथ अपडेट रहना बहुत जरूरी है। यदि आप Google के algorithms पर ध्यान नही देते है, तो आप ब्लॉगिंग में सफलता हासिल नही कर पाएंगे।

कई ऐसे ब्लॉगर है जिनकी ब्लॉग गूगल सर्च से ढेरों सारा ट्रैफिक प्राप्त करती थी। लेकिन Google algorithm अपडेट होने के कारण उनकी ट्रैफिक में काफी गिरावट आ गयी।

इसलिए Google algorithms पर नजर रखना और नई algorithms के साथ अपनी ब्लॉग को अपडेट करना बहुत जरूरी है।

52. Online Active रहें

Online groups और उन websites पर active रहें जो आपके वेबसाइट ब्लॉग से रिलेटेड हैं। यह आपको अधिक ट्रैफ़िक प्राप्त करने में मदद करता है। ब्लॉग और सोशल मीडिया पोस्ट पर कमेंट करें, उन सवालों के जवाब दें जिन्हें लोग पोस्ट कर रहे हैं।

आप जितना अधिक community के साथ जुड़ते हैं, उतना अधिक ब्रांड awareness बढ़ेगी है।

कमेंट में अपनी वेबसाइट की लिंक add न करें। यह spammy प्रतीत होता है और आपकी वेबसाइट या ब्लॉग reputation को नुकसान पहुंचा सकता है।

53. Google Search Advertising

आप अपनी वेबसाइट को विशेष कीवर्ड के लिए सर्च रिजल्ट में सबसे ऊपर दिखाने के लिए paid कर सकते है। जब उन कीवर्ड का उपयोग करके कुछ भी सर्च किया जाता है, तो Google उन कीवर्ड पर बोली लगाने यूजर को सर्च रिजल्ट में दिखाता है।

Google Search Advertising सर्च रिजल्ट पेज में सबसे पहले दिखाई देते हैं। वेबसाइट पर अधिक ट्रैफ़िक प्राप्त करने के लिए यह भी एक शानदार तरीका है।

54. Social Media Advertising

यदि आप नए, targeted audiences तक पहुँचना चाहते हैं, तो Social media advertising बहुत जरूरी है। हालंकि सभी social networks advertising options ऑफर करते है। इसका मतलब यह नहीं है कि आपको इन सभी पर Advertising करना चाहिए।

जब आप Social Media Advertising के लिए त्यार है, तो आपको यह जानना होगा कि आपके audience के बीच कौन से नेटवर्क सबसे पोपुलर हैं।

यदि आप अपनी वेबसाइट ट्रैफिक बढाने के लिए किसी भी प्रकार की Traffic Exchange वेबसाइट या टूल का उपयोग करते है, तो आपको इसे तुरंत बंद कर देना चहिये।

Traffic Exchange आपकी साईट की रैंकिंग को बुरी तरह से प्रभावित करते है। गूगल आपकी साईट को Blacklisted कर सकता है।

इसके अलावा यदि आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर Google Adsense ads लगया है, तो आपका Adsense account disable हो जायेगा।

अतः आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग ट्रैफिक बढाने के लिए Traffic Generators Tools का उपयोग कर रहे है, तो इसे अभी बंद कर दें।

निष्कर्ष – अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर ट्रैफिक कैसे बढ़ाये

यहाँ मैंने आपको जो strategy बताई वो 100% आपके website traffic को बढ़ाने में मदद करेंगे। लेकिन रातों रात आपकी traffic को boost नही कर सकते है। यह एक long time process है। इसमें आपको थोड़ा धैर्य रखनी होगी।

लेकिन एक बात का ध्यान रखें Quality content बहुत ही मवत्वपूर्ण है। यदि आप अपनी साइट पर ये सभी technique का उपयोग करते है पर quality कंटेंट पर ध्यान नही देते है, तो आपकी सारी मेहनत बेकार है। Google आपके कंटेंट को सर्च result में अच्छी रैंक नही देगा और आपकी वेबसाइट सर्च इंजन से traffic नहीं प्राप्त कर पायेगी।

आप अपनी blog या website traffic बढ़ाने के लिए किन किन तरीको का उपयोग करते है? कमेंट बॉक्स में बता सकते है।

यदि मुझसे Website और BlogTraffic बढ़ाने की कोई Strategy छूट गयी हो, तो आप मुझे comment में बता सकते है।

अगर यह आर्टिकल आपके लिए helpful साबित हुई है, तो इसे share करना न भूलें!

Leave a Comment