[70+] Dhokebaaz Shayari in Hindi (2022) | धोखेबाज शायरी


धोखेबाज़ Ladki या Dost के लिए शायरी ढूंढ रहे है? तो हम लेके आए है Dhokebaaz Shayari पढिए और शेयर करें इन Dhokebaaz Shayari in Hindi को सोशल मीडिया पर


Dhokebaaz Shayari


Dhokebaaz Shayari

जिन्दगी की हर मोड़ पर धोखेबाज मिलें,
उनमें पराये कम अपने ज्यादा मिलें..!!

आँखें थक गई है आसमान को देखते देखते,
पर वो तारा नहीं टूटता जिसे देखकर तुम्हें मांग लूँ..!!

तुझसे अच्छे तो जख्म हैं मेरे,
उतनी ही तकलीफ देते हैं जितनी बर्दास्त कर सकूँ..!!

दिन हुआ है तो रात भी होगी,
मत हो उदास उससे कभी बात भी होगी,
वो प्यार है ही इतना प्यारा,
ज़िंदगी रही तो मुलाकात भी होगी..!!

ऐ मोहब्बत तेरे अंजाम पे रोना आया,
जाने क्यूँ आज तेरे नाम पे रोना आया..!!

धोखेबाजों का चलन है साहब,
वफ़ा करने वालो की कहाँ कदर है..!!

कौन रोता है किसी और की ख़ातिर ऐ दोस्त,
सब को अपनी ही किसी बात पे रोना आया..!!

अब तो वफ़ा करने से मुकर जाता है दिल,
अब तो इश्क के नाम से डर जाता है दिल,
और अब किसी दिलासे की जरूरत नही है,
क्योंकि अब हर दिलासे से भर गया है दिल..!!

बेवफा लोग बढ़ रहे हैं धीरे धीरे,
इक शहर अब इनका भी होना चाहिए..!!

जो धोखा करना सीख जाते है जनाब,
हर सख़्श उन्हें धोखेबाज़ लगते है..!!

Dhokebaaz Shayari in Hindi
Shayari Dhokebaaz

धुंआ ही धुंआ फैला है ज़माने में आज,
छुप गए इंसानियत और वफ़ा, बढ़ गये है धोखेबाज..!!

जमाने को अच्छा समझा लेकिन वो चालबाज निकला,
अपने को अपना समझा लेकिन वो धोखेबाज निकला..!!

दिलों जान से चाहा था उसे,
लेकिन उसने मेरी मजबूरी को धोखेबाजी का नाम दे दिया..!!

उसकी यादें सदाबहार है, मगर अब वो मेरी पहुंच से बाहर है,
पाकर भी करूंगा क्या, वो तो हमेशा से एक धोखेबाज है..!!

धोखेबाज तो हज़ारों मिलेंगे ज़िन्दगी में,
इसका मतलब ये तो नही की हम भरोसा करना छोड़ दे..!!

आज नींद ने न आने का वादा लिया हैं मुझ से,
तेरी तरह वो भी धोखेबाज निकली..!!

देखें तो देखे कहां तक,
यहां तो हर शख्स धोखेबाज नजर आता है..!!

तुम धोखा करो तब भी धोखेबाज नहीं,
हम वफा करें तो भी गुनहगार है,
ये खता तेरी नहीं जान मेरी,
ये तो वक़्त-वक्त की मार है..!!

मेरी हर आह को वाह मिली है यहाँ,
कौन कहता है दर्द बिकता नहीं है..!!

तुमने समझा ही नहीं और ना समझना चाहा,
हम चाहते ही क्या थे तुमसे तुम्हारे सिवा..!!


Dhokebaaz Shayari in Hindi


Bewafa Dhokebaaz Shayari
Dhokebaaz Shayari in Hindi

ये ना पूछ कितनी शिकायतें हैं तुझसे ऐ ज़िन्दगी,
सिर्फ इतना बता की तेरा कोई और सितम बाक़ी तो नहीं..!!

वो बिछड़ के हमसे ये दूरियां कर गई,
न जाने क्यों ये मोहब्बत अधूरी कर गई,
अब हमे तन्हाइयां चुभती है तो क्या हुआ,
कम से कम उसकी सारी तमन्नाएं तो पूरी हो गई..!!

बारिशे हो ही जाती है मेरे शहर में,
कभी बादलो से तो कभी आँखों से..!!

वो रो रो कर कहती रही मुझे नफरत है तुमसे,
मगर एक सवाल आज भी परेशान किये हुए है,
की अगर नफरत ही थी तो वो इतना रोई क्यों..!!

दिल टूटा हो तो दुःख होता है,
करके मोहब्बत किसी से ये दिल रोता है,
दर्द का एहसास तो तब होता है,
जब किसी से मोहब्बत हो और उसके दिल में कोई और होता है..!!

बस एक तुमको ही खो देना बाकि था,
इससे बुरा इस साल और क्या होना बाकी था..!!

होले होले कोई याद आया करता है,
कोई मेरी हर साँसों को महकाया करता है,
उस अजनबी का हर पल शुक्रिया अदा करते हैं,
जो इस ना चीज़ को मोहब्बत सिखाया करता है..!!

तुझे अपनाऊ तो मुझसे जमाना रूठ जाता है,
और मोहब्बत पढ़ने लिखने में बहुत आसान है,
पर उसे निभाने में पसीना छुट जाता है..!!

ज़ख्म पुराने हुए कोई तो नया ज़ख्म दे जाओ,
चलो आओ फिर से फिर से वही इश्क़ ले आओ..!!

क्या बात है बड़े चुपचाप से बैठे हो,
कोई बात दिल पे लगी है या दिल कही लगा बैठे हो..!!

Dhokebaaz Dost Shayari
Dhokebaaz Shayari Hindi

वो आईने में खुद को कैसे बर्दाश्त करते होंगे,
उन्हें तो सख्त नफ़रत थी धोखेबाजों से..!!

किसी को न पाने से जिंदगी खत्म नहीं होती,
लेकिन किसी को पाकर खो देने से कुछ बाकी भी नहीं रहता..!!

सुकून की तलाश में हम दिल बैचेन निकले थे,
खरीददार दर्द भी दे गया और दिल भी ले गया..!!

तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो,
क्या ग़म है जिस को छुपा रहे हो..!!

लम्हा लम्हा सांसे ख़तम हो रही है,
जिंदगी मौत के पहलू में सो रही है,
उस बेवफा से ना पूछो मेरी मौत की वजह,
वो तो जमाने को दिखाने के लिए रो रही है..!!

दिलों जान से चाहा था उसे,
लेकिन उसने मेरी मजबूरी को धोखेबाजी का नाम दे दिया..!!

जितना गहरा भरोसा था उन पर,
उससे भी गहरा धोखा देकर चले गए वो..!!

मेरी तन्हाई को मेरा शौक ना समझना,
बड़े प्यार से दिया है धोखा किसी ने..!!

समय गुज़रते-गुज़रते कुछ लोगो का प्यार,
कमज़ोर नहीं और गहरा हो रहा है..!!

मत आने दो किसी को करीब इतना,
कि उससे दूर जाने से इंसान खुद से रूठ जाये..!!


Bewafa Dhokebaaz Shayari


Dhokebaaz Ladki Shayari
Bewafa Dhokebaaz Shayari

बहुत धोखा मिलता है उन लोगों को,
जो दिल के साफ़ होते है..!!

जबसे प्यार में धोखा खाया है,
हर हुस्न वालों से डर लगता है,
पहले अंधेरे की आदत नहीं थी मुझे,
अभी उजालों से डर लगता है..!!

हर खेल में हम बाजी मार जाते हैं,
पर धोखेबाज से हम बाजी हार जाते हैं..!!

तुमने प्यार ना सही पर तुम्हारे,
धोखे ने मुझे बहुत हिम्मत दी है..!!

धोखेबाजों का चलन है साहब,
वफ़ा करने वालो की कहाँ कदर है..!!

भरोसा जितना कीमती होता है,
धोखा उतना ही महंगा हो जाता है,
ईमानदारी का दाम कोन जाने,
यहां हर बेइमान राजा हो जाता है..!!

दिल के ज़ख्म भरते-भरते कब वो,
दिल ज़ख़्मी कर गए पता ही नहीं चला..!!

मोहब्बत करने वाला में भी अक्सर ये सिला देखा है,
जिन्हे अपनी वफ़ा पे नाज़ था उन्हें भी बेवफा देखा है..!!

मोहब्बत में कोई जी गया कोई प्यार में मर गया,
मोहब्बत आग का सागर है फिर भी उतर गया कोई,
प्यार में जखम का हिसाब बहुत पुरान है मेरे दोस्त,
जख्म दे गया कोई जख्म भर गया कोई..!!

हर एक चेहरे की फितरत में वफादारी नहीं होती..!!


Dhokebaaz Dost Shayari


Shayari Dhokebaaz
Dhokebaaz Dost Shayari

दीवानगी का सितम तो देखो कि,
धोखा मिलने के बाद भी चाहते है हम उनको..!!

बड़ी हसीन थी जिंदगी जब,
ना किसी से मोहब्बत ना किसी से नफ़रत थी,
जिंदगी में एक मोड़ ऐसा आया मोहब्बत उससे हुई,
और नफ़रत सारी दुनिया से हो गयी..!!

उसकी यादें सदाबहार है,
मगर अब वो मेरी पहुंच से बाहर है,
पाकर भी करूंगा क्या,
वो तो हमेशा से एक धोखेबाज है..!!

इंकार करते करते इक़रार कर बैठे,
हम तो एक बेवफा से प्यार कर बैठे..!!

बस दिल्लगी थी उसे हमसे मोहब्बत कब थी,
महफ़िल ए गैर से उन को फुरसत कब थी,
हम थे मोहब्बत में लोट जाने के काबिल,
उस के वादों में वो हकीकत कब थी..!!

मोहब्बत जिंदगी बदल देती है,
मिल जाए तो भी और न मिले तो भी..!!

ये नहीं गम के कसम अपनी भुलाई तुमने,
गम तो ये है कि रकीबों सी निभाई तुमने,
कोई रजिश थी अगर तुमको तो मुझसे कहते,
बात आपस की थी सबको क्यों बताई तुमने..!!

इश्क कहता है मुझे इक बार कर के देख,
तुझे मौत से न मिलवा दिया तो मेरा नाम बदल देना..!!

बहुत तलाश किया पर कहीं गुम हो गए वो,
ढूंढने की कोशिश की पर नहीं मिले वो,
मेने तो वफ़ाई की लेकिन उसके प्यार में शायद खोट था,
इसलिए तो किसी और के बाहों में खो गए वो..!!

इस भरी दुनिया में कोई भी हमारा न हुआ,
ग़ैर तो ग़ैर हैं अपनों का सहारा न हुआ..!!


Dhokebaaz Ladki Shayari


Dhokebaaz Shayari Hindi
Dhokebaaz Ladki Shayari

तनहाई मुझे अच्छी लगती है,
महफिल में तो सब धोखेबाज है..!!

अपनी हालत का खुद एहसास नहीं है मुझको,
मैंने औरों से सुना है के परेशान हूँ मैं..!!

उस ने पूछा था क्या हाल है,
और मैं सोचता रह गया..!!

ना वो सपना देखो जो टूट जाये,
ना वो हाथ थामो जो छुट जाये..!!

हर खेल में हम बाजी मार जाते हैं,
पर धोखेबाज से हम बाजी हार जाते हैं..!!

उसकी यादें सदाबहार है मगर अब वो मेरी पहुंच से बाहर है,
पाकर भी करूंगा क्या, वो तो हमेशा से एक धोखेबाज है..!!

मेरी यारी का उसने अच्छा परिणाम दिया,
मेरी मुसीबत मे उसने मुझको ही भुला दिया..!!

दुनिया बहुत स्वार्थी है साथ कोई क्यो देगा,
फोकट का यहा कफ़न नही मिलता,
तो बिना दुःख के इश्क कौन देगा..!!

धोखा खाने वाले भी क्या एहसान फरमाते हैं,
दुनिया से एक धोखेबाज की पहचान करवाते हैं..!!

वो छोड़ के गए हमें न जाने उनकी क्या मजबूरी थी,
खुदा ने कहा इसमें उनका कोई कसूर नहीं,
ये कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी..!!


Final Words


आपको ये ब्लॉग Dhokebaaz Shayari in Hindi कैसा लगा कमेंट करके जरुर बताएं! इसके आलावा भी अगर ब्लॉग या वेबसाइट से संबधित कोई Suggestion या Advice है। तो दे सकते है हम उसमे सुधार करने की कोशिश करेंगे!

अगर आपको Dhokebaaz Shayari पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें! और हमे FacebookInstagram और Pinterest पर भी फॉलो कर सकते है..!! धन्यवाद



Leave a Comment