SEO Friendly Blog Post कैसे लिखें हिंदी में – InHindiHelp


सर्च रिजल्ट में अच्छी रैंक प्राप्त करने के लिए SEO friendly content बहुत महत्वपूर्ण है। लेकिन SEO Friendly Blog Post लिखना एक आसान काम नहीं है। एक अच्छा SEO Friendly Article लिखने के लिए बहुत सारी सोच और technique की आवश्यकता होती है।

आज इस आर्टिकल में मैं आपको बताऊंगा SEO Friendly Blog Post कैसे लिखें।

SEO आपकी पूरी वेबसाइट को ऑप्टिमाइज़ करने और वेबसाइट रैंकिंग में सुधार करने में मदद करता है। लेकिन Right SEO techniques बहुत जरूरी है।

SEO Friendly Blog Post लिखने का मुख्य उद्देश्य है – Blog Post को सर्च इंजन के अनुसार ऑप्टिमाइज़ करना है ताकि सर्च इंजन आसानी से आपकी कंटेंट को समझ सकें।

इसे भी पढ़े – On Page SEO क्या हैं और कैसे करें

तो, चलिए मैं आपको बताता हूँ SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे जो आसानी से Rank करे…

SEO Friendly Blog Post Kaise Likhe

एक अच्छी SEO friendly content आपके ब्लॉग की सर्च इंजन रैंकिंग को बहुत प्रभावित करती है और आपकी कंटेंट को गूगल के पहले पेज पर ले जा सकती है।

SEO friendly article लिखने के लिए कौन कौन से factors की आवश्यकता पड़ती है:

Keyword Research करें

Keyword research बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि कीवर्ड रिसर्च SEO की नींव (foundation) है।

कीवर्ड रिसर्च SEO का सबसे महत्वपूर्ण घटक है। यह सर्च डेटा प्रदान करता है जो आपको पता लगाने में मदद करता है:

  • लोग क्या खोज रहे हैं?
  • कितने लोग इसे खोज रहे हैं?
  • उस कीवर्ड पर कितनी Competition है?

नीचे मैंने कुछ Keyword types के बारे में बताया है:

  • Head keywords – ये सिंगल शब्द वाले कीवर्ड होते हैं जैसे WordPress, SEO इत्यादि और इनकी search volume और competition बहुत अधिक होती है, लेकिन ये अच्छे रिजल्ट नहीं देते हैं।
  • Body keywords – ऐसे कीवर्ड 2 शब्द से मिलकर बन होते हैं – WordPress SEO, SEO tutorial आदि, इनकी Monthly searches अच्छी होती है और competition “Medium” होता है।
  • Long Tail Keywords – इस तरह के कीवर्ड्स में 3 या 4 शब्द शामिल होते हैं जैसे Beginner SEO tutorial आदि। ये अत्यधिक टारगेट होते हैं। लेकिन जब competition की बात आती है, तो  long-tail keywords कम competitive होते हैं।

Keyword research के बिना, आप अपनी कंटेंट को SEO friendly नहीं बना सकते हैं।

यदि आप SEO content लिखने दौरान keyword research नहीं करते हैं, तो आपकी कंटेंट पूरी तरह बेकार है और आप अपना समय बर्बाद कर रहे हैं। ऐसी कंटेंट सर्च इंजन में अच्छी रैंक प्राप्त नहीं कर सकती है।

Engaging और SEO friendly articles लिखने के लिए कीवर्ड रिसर्च बहुत महत्वपूर्ण है।

अपनी कंटेंट के लिए low competition और high monthly search के साथ रिलेटेड कीवर्ड को सेलेक्ट करें।

Keyword Research के क्या क्या फायदे है:

Keyword research के बहुत सारे फायदे है। ब्लॉग ट्रैफिक बढ़ाने और सर्च इंजन में अच्छी रैंक प्राप्त करने के लिए यह बहुत जरूरी है।

  • Keyword research आपके ब्लॉग को जल्दी पॉपुलैरिटी प्राप्त करने में मदद करता है।
  • यदि आप keyword research करके अपनी आर्टिकल लिखते है, तो आपकी साइट टारगेट visitors प्राप्त कर पायेगी।
  • आपकी वेबसाइट रैंकिंग और ट्रैफिक को बढ़ाने में मदद करता है।
  • Keyword research से आपको अपने ब्लॉग के लिए कंटेंट लिखने का Idea (टॉपिक) मिलता है।
  • Keyword research से आपको कीवर्ड पर competition और search volume का पता चलता है।
  • Keyword research करके आप अपनी ब्लॉग के important keywords को रैंक करा सकते है।
  • जितने आपके पोस्ट सर्च इंजन में रैंक होंगे आपकी domain authority बढ़ेगी। साथ ही आपके साईट पर backlinks की संख्या भी बढ़ेगी।

Keyword Research करने के लिए टूल

मार्केट में बहुत सारे Keyword Research tool उपलब्ध है जो आपको अच्छे कीवर्ड खोजने में मदद कर सकते है। यहाँ नीचे उनकी लिस्ट दी है,

  • Answer the Public – यह Google और Bing searches का उपयोग करके कीवर्ड का सुझाव देता है और एक unique proposition प्रदान करता है। इस टूल का उपयोग करके, आप कीवर्ड आसानी से ढूंढ सकते हैं। आप जिस कीवर्ड के लिए सर्च करते है यह उससे Related keywords और Question keywords भी दिखाता है।
  • Google AutoComplete Tool – यह आपको किसी भी niche के लिए Long-tail keywords ढूंढने की अनुमति देता है। यहां, आपको अपने main keyword को टाइप करना होगा। यह आपको Long-tail keywords की एक list दिखायेगा। बस उसमें से आपको best long-tail keywords चुनना होगा।
  • Google Auto-Suggest – गूगल सर्च में अपनी main keyword enter करें यह आपको keyword से related सर्च keyword दिखाना शुरू कर देगा। जैसा कि आप नीचे स्क्रीनशॉट में देख सकते है।
  • Google Keyword Planner – Google keyword planner सबसे अच्छा और free keyword research tool है जो गूगल द्वारा डेवलप्ड की गयी है। इसकी मदद से आप किसी भी प्रकार के कीवर्ड आसानी से ढूंढ सकते है चाहे वह long tail keyword हो या कुछ भी। इस Google keyword planner tool का उपयोग करके, आप keyword competition, monthly searches, CPC और बहुत सारी चीजो का पता लगा सकते है।
  • Soovle – यह भी एक बहुत ही पोपुलर टूल है जो long tail keywords को खोजने में मदद करता है।
  • Google related keywords search – यदि आप किसी free long tail keyword tool की तलाश कर रहे हैं, यह ट्रिक भी आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। जब आप गूगल में कुछ भी खोजते हैं, तो सर्च रिजल्ट के बाद आपको नीचे कुछ कीवर्ड दिखाई देते है जो long tail keywords होते हैं। आप इन्हें अपने आर्टिकल में long tail keywords के रूप में उपयोग कर सकते हैं।
Keyword Research Kaise Kare
  • Ubersuggest – Neilpatel द्वारा डेवलप्ड यह बहुत अच्छा और पोपुलर keyword suggestion tool है। इस टूल की मदद से आप अपने ब्लॉग पोस्ट के लिए आसानी से अच्छी long tail keywords प्राप्त कर सकते हैं और इसे उपयोग करना भी आसान है।
  • SEMrush – यह मेरी सबसे पसंदीदा टूल में से एक है जो आपको keyword research करने के साथ साथ अपने कॉम्पिटिटर पर भी नजर रखने में मदद करता है। हालंकि इसका फ्री वर्शन बहुत ही लिमिटेड के साथ आता है। इसका प्रीमियम version $99 .95 per month से शुरू होता है।
  • Ahrefs – Ahrefs एक प्रीमियम Keyword research tool है जो आपके वेबसाइट के लिए अच्छे कीवर्ड खोजने में मदद करता है और कॉम्पिटिटर पर नजर रखता है।

Related Keyword उपयोग करें

सर्च इंजन आपकी आर्टिकल को समझने के लिए target keywords, related terms, keyword variations, और synonyms शब्द का उपयोग करते हैं।

अपनी कंटेंट में Target keyword से संबंधित Related keywords का उपयोग करें। यह SEO content writing आपकी आर्टिकल को सर्च रिजल्ट में टॉप रैंक प्राप्त करने में सहायता करती है।

साथ ही, जब आप SEO और Engaging के लिए ब्लॉग पोस्ट ऑप्टिमाइज़ करते हैं तो keyword variations का उपयोग करें।

यदि आप अच्छे रिलेटेड कीवर्ड चाहते हैं, तो इस आसान विधि का उपयोग करें।

  • गूगल सर्च पर विजिट करें
  • अपना Target keyword टाइप करें
  • पेज को स्क्रॉल करें, यहां आप लोगों की पिछली सर्च पर कुछ अच्छे related keywords देख सकते हैं।

Long-Tail Keywords का उपयोग करें

Long tail keywords वो कीवर्ड होते है जिनमें 4 या उससे अधिक words शामिल होते है। जब आप ऐसे कीवर्ड से अपनी साइट को ऑप्टिमाइज़ करते हैं, तो आपको बेहतर रिजल्ट मिलता है और Competition भी बहुत कम होती है।

यहाँ इनके कुछ लाभ दिए गए हैं:

  • Rank करने में आसानी होती है।
  • Target ट्रैफिक प्राप्त करने में मदद करता है।
  • Better Conversion Rate देते है।
  • Long Tail Keywords आपको Short Tail Keywords पर भी रैंक करने में मदद करते है।
  • Competitive Niches के लिए परफेक्ट होते है।
  • Optimize करने में आसानी होती है।

Title (Headlines) को Optimize करें

टाइटल टैग कंटेंट पर सीटीआर बढ़ाने में अहम भूमिका निभाते हैं। यदि आप इसे सही ढंग से ऑप्टिमाइज़ नहीं करते हैं, तो आप अपनी कंटेंट क्षमता को बेहतर बनाने का अवसर खो देते हैं। अपने टाइटल के शुरुआत में फोकस कीवर्ड डालने की कोशिश करें।

जब सर्च इंजन आपकी आर्टिकल को क्रॉल करते हैं, तो वे टाइटल देखते हैं। यदि आप इसे सही तरीके से ऑप्टिमाइज़ करते हैं तो आपकी कंटेंट सर्च इंजन में अच्छी रैंक करेगी।

इसके अलावा यूजर आपके टाइटल को देखने के बाद ही आपकी कंटेंट को पढ़ते हैं। इसलिए, हमेशा एक वर्णनात्मक और सम्मोहक टाइटल बनाने की कोशिश करें।

  • हमेशा कंटेंट से संबंधित टाइटल लिखें। ताकि रीडर जल्दी से तय कर सकें कि यह उनके लिए उपयोगी है या नहीं।
  • टाइटल छोटा रखें, यदि यह बहुत लंबा हो जाता है, तो Google आपके टाइटल को काट देता है, जो आपकी क्लिक-थ्रू दरों को चोट पहुँचाता है।
  • इसे descriptive (लेकिन clickbait नहीं) बनाएं।
  • अपना मुख्य कीवर्ड शामिल करें।
  • कीवर्ड स्टफिंग से बचें।
  • Best, Guide, Checklist, Amazing, Proven Ways आदि जैसे आकर्षक शब्द का उपयोग करें।
  • टाइटल में संख्याओं का उपयोग करें। ब्लॉग पोस्ट के लिए आकर्षक टाइटल बनाने का यह एक बढ़िया और बेहतर तरीका है।

पहले 150 शब्दों में एक बार मुख्य कीवर्ड ड्रॉप करें

यह कदम आपकी कंटेंट को और अधिक टार्गेटेड और SEO friendly बनाता है। 

SEO Friendly URLs Create करें

हमेशा अपने ब्लॉग पोस्ट के लिए SEO friendly और short URLs का उपयोग करें। ताकि सर्च इंजन आसानी से आपके पेज टॉपिक को समझ सकें।

सुनिश्चित करें कि आप अपने URL में टार्गेट कीवर्ड जोड़ते हैं। यह आपकी कंटेंट को और भी SEO friendly बनाता है। यहाँ एक गाइड है – SEO Friendly URL Kaise Banaye

हमेशा इस तरह के यूआरएल का उपयोग करें

https://inhindihelp.com/page-seo-techniques/

हमेशा ऐसे यूआरएल से बचें,

https://inhindihelp.com/p=123

https://inhindihelp.com/5/10/17/category=SEO/of-page-seo-best-web-optimization

SEO Friendly URLs Create करने के लिए quick टिप्स:

  • अपने मुख्य कीवर्ड को अपने URL में add करें।
  • कीवर्ड स्टफिंग से बचें।
  • Word spacing के लिए हाइफ़न (-) का प्रयोग करें।
  • अपने URL को यथासंभव छोटा रखें। अन्यथा, Google इसे टाइटल की तरह काट देता है।
  • Folder/category की संख्या सीमित करें।

Meta Descriptions को ऑप्टिमाइज़ करें

Title विज़िटर के इंटरेस्ट को आकर्षित करता है और Meta description आपकी कंटेंट का एक संक्षिप्त overview है जो विजिटर को आपकी आर्टिकल पर क्लिक करने के लिए मजबूर करता है।

Meta description भी आपके कंटेंट पर CTR बढ़ाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

तो यह एक अच्छा मेटा विवरण लिखने का समय है।

हालांकि, Google इसे ranking factor के रूप में उपयोग नहीं करता है। लेकिन SEO friendly article के लिए, हर छोटी चीज मदद कर सकती हैं।

Meta descriptions को बेहतर ऑप्टिमाइज़ करने के लिए टार्गेट कीवर्ड और रिलेटेड कीवर्ड का उपयोग करें। यदि ये कीवर्ड search query में मौजूद हैं, तो वे बोल्ड हो जाते हैं जो विजिटर का ध्यान आकर्षित करते हैं।

Internal linking और External Linking करें

अपनी कंटेंट में internal linking और external linking करने का प्रयास करें।

यह आपकी कंटेंट वैल्यू को बढाता है और आपके विजिटर के लिए अधिक जानकारी जोड़ता है। साथ ही, सर्च इंजन क्रॉलर को पेज समझने में आसानी होती है।

यह SEO content writing technique गूगल को दिखाती है कि आपका आर्टिकल भरोसेमंद और अच्छी तरह से संदर्भित है। Internal linking के कई लाभ हैं:

  • आपकी कंटेंट को विजिटर के लिए अधिक उपयोगी और प्रासंगिक बनाता है।
  • Link juice पास करता है।
  • पेजव्यू बूस्ट करता है।
  • Bounce rate कम करता है। 
  • आपकी कंटेंट को informative और user-friendly बनाता है।
  • Google आपकी साइट को तेज़ी से और बेहतर तरीके से क्रॉल करता है।
  • आपकी Website SEO में सुधार करता है।

Use media और उसे ऑप्टिमाइज़ करें

एक इमेज 1000 शब्दों के बराबर होती है। यदि आप अपनी कंटेंट में मीडिया का उपयोग करते हैं, तो यह आपकी कंटेंट को और अधिक SEO friendly बनाने में मदद करता है।

लेकिन सबसे बुरी बात यह है कि Google इमेज को नहीं पढ़ सकता है। यह इमेज के Alt tag के आधार पर इमेज को read करता है।

इसलिए, अपनी इमेज में उचित Alt tag जोड़ना कभी न भूलें। इसके अलावा, इसमें targeted keywords भी जोड़ें।

यह तकनीक आपको इमेज सर्च में बेहतर रैंक प्राप्त करने में सहायता करती हैं। यहाँ एक गाइड है – Image Optimization in Hindi (Ultimate SEO Guide)

Keyword Stuffing Avoid करें

Keyword Stuffing, किसी पेज में ज्यादा से ज्यादा कीवर्ड्स को शामिल करने की प्रथा है। इसका उपयोग गूगल में पेज की वैल्यू में हेरफेर करने और सर्च इंजन रिजल्ट पेज में अच्छी रैंक प्राप्त करने के लिए किया जाता था। हालाँकि, अब इसका उपयोग नहीं किया जाता है और यह Black hat SEO मानी जाती है।

ये आपकी आर्टिकल को spammy, unnatural और useless बनाता है। आपको इससे बचना चाहिए क्योंकि कीवर्ड स्टफिंग गूगल के गाइडलाइंस के विरुद्ध है, और इससे आपको पेनल्टी भी लग सकता है और सर्च इंजन रिजल्ट पेज से आपके पोस्ट को हटाया भी जा सकता है। अपनी कंटेंट में keyword density 1.5% – 2% रखें। 

यहां Google keyword stuffing के बारे में व्याख्या करता है। अपनी कंटेंट में related keywords, synonyms और LSI keywords का उपयोग करें।

लंबा ब्लॉग पोस्ट लिखें

Google search result में कंटेंट की लंबाई बहुत महत्वपूर्ण है। यदि आप अपने ब्लॉग के लिए long-form content लिखते हैं तो आपको पॉजिटिव रिजल्ट मिलेगा।

SEO Friendly Article Kaise Likhe

Short-form और thin content की तुलना में Long-form content सर्च इंजन में बेहतर प्रदर्शन करती है। एक लम्बी ब्लॉग पोस्ट के कई फायदे हैं। आप अपने फ़ोकस कीवर्ड को अच्छी तरह से ऑप्टिमाइज़ कर सकते हैं, विजिटर आपकी साइट पर अधिक समय बिताएंगे।

एक लंबा ब्लॉग पोस्ट कम से कम 1000 शब्दों का होना चाहिए। लेकिन अपनी कंटेंट को बड़ा करने के लिए बकवास चीजे न लिखें। क्योंकि आपकी कंटेंट को पढ़ने के बाद, विजिटर फिर से आपकी साइट पर वापस आना पसंद नहीं करेंगे।

सुनिश्चित करें कि आपकी कंटेंट को पढ़ना आसान है

यह कदम लोगों को पढ़ने के लिए आपकी कंटेंट को आसान बनाने के बारे में है। SEO friendly article लिखने के साथ-साथ, user experience का भी ध्यान रखें। यदि आपकी कंटेंट को पढ़ना मुश्किल है, तो रीडर आपकी साइट से बाहर निकल जाएंगे।

  • Body के लिए बड़े फोंट का उपयोग करें। मैं Body फ़ॉन्ट के लिए कम से कम 16px का उपयोग करने की सलाह देता हूं। इसके अलावा आप 17px या 18px फ़ॉन्ट आज़मा सकते हैं। इस तरह, आपकी कंटेंट किसी भी डिवाइस में पढ़ने के लिए सुपर आसान हो जाती है।
  • अपनी कंटेंट को helpful headings के साथ तोड़ें ताकि रीडर पेज में आसानी से नेविगेट कर सकें। यह विशेष रूप से लंबी कंटेंट के लिए उपयोगी है जहां एक रीडर केवल एक विशेष खंड से जानकारी की तलाश में हो।
  • बुलेट पॉइंट का उपयोग करें – यह लिस्ट के लिए बहुत अच्छा है, यह अधिक तेज़ी से उन सूचनाओं को ढूढने में मदद करता है जिनकी उन्हें आवश्यकता है।
  • बड़े पैराग्राफ लिखने से बचें – टेक्स्ट की दीवारों से बचें।
  • चित्र, वीडियो और विजेट शामिल करें जो आपकी कंटेंट को आकर्षक बनाते हैं।
  • अपने प्रमुख वाक्यों को बोल्ड या इटैलिक करें ताकि वे पाठक का ध्यान खींच सकें।

Quality content

Content is king

Quality content विजिटर और सर्च इंजन दोनों को आकर्षित करती है। लेकिन आपकी कंटेंट unique और qualityful होना चाहिए।

यदि आप उपयोगी और informative ब्लॉग पोस्ट नहीं लिखते हैं, तो कोई भी आपकी साइट पर विजिट नहीं करेगा।

और आप अपने ब्लॉग पर दीमक डाल रहे हैं। ऐसी कंटेंट आपकी वेबसाइट रैंकिंग को बहुत प्रभावित करती है। हमेशा अपने ब्लॉग के लिए अच्छे और SEO friendly content लिखने का प्रयास करें।

छोटा सा निवेदन, अगर यह आर्टिकल आपके लिए मददगार साबित हुई है, तो इसे शेयर करना न भूलें!

आपको यह पोस्ट भी पढना चाहिए:


Leave a Comment